ग्वालियर पूर्व के भाजपा और कांग्रेस प्रत्याशियों को प्रशासन ने लिया निगरानी में

दोनों ही तरफ से आरोप लग रहे थे कि अंतिम समय में गड़बड़ी हो सकती है इसलिए माना जा रहा है कि सुरक्षा की दृष्टि से दोनो प्रत्याशियों को नजर बंद किया गया है

ग्वालियर, अतुल सक्सेना| जिला प्रशासन ने ग्वालियर पूर्व विधानसभा के भाजपा प्रत्याशी पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल (Munnalal Goyal) और कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व पार्षद डॉ सतीश सिंह सिकरवार (Satish Sikarwar) को अपनी निगरानी में ले लिया है। दोनों ही तरफ से आरोप लग रहे थे कि अंतिम समय में गड़बड़ी हो सकती है इसलिए माना जा रहा है कि सुरक्षा की दृष्टि से दोनो प्रत्याशियों को नजर बंद किया गया है । हालांकि प्रशासन का कहना है कि किसी को नजर बंद नहीं किया बातचीत के लिए बुलाया है।

ग्वालियर जिले की तीनों विधानसभा सीटों डबरा, ग्वालियर और ग्वालियर पूर्व में सुबह से ही शांति पूर्ण मतदान चल रहा है। हालांकि दिन में एक बाद ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र के एक पोलिंग बूथ पर भाजपा और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में थोड़ी बहस जरूर हुई थी जिसकी मौखिक शिकायत कांग्रेस प्रत्याशी सतीश सिकरवार में आईजी से की थी। उनका आरोप था कि भाजपा प्रत्याशी मुन्नालाल गोयल के समर्थक बूथ में बैठकर लोगों को भाजपा के पक्ष में मतदान के लिए दबाव बना रहे हैं हालांकि प्रशासन ने ऐसी किसी भी घटना से इंकार कर दिया । उधर मतदान के अंतिम घंटों में गड़बड़ी की आशंका और आरोप प्रत्यारोप को देखते हुए प्रशासन ने भाजपा प्रत्याशी मुन्नालाल गोयल और कांग्रेस प्रत्याशी सतीश सिकरवार को पुलिस कंट्रोल में बुलाकर अपनी निगरानी में ले लिया। हालांकि प्रशासन इसे नजर बंद करना नहीं मान रहा। एडीएम एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी किशोर कान्याल ने कहा कि कहीं कोई बात नहीं है सौहार्द पूर्व वातावरण में बैठे हैं दोनो प्रत्याशी। हमने केवल बात करने के लिए बुलाया है। उधर मुन्नालाल गोयल ने कहा कि हम शांति पूर्ण मतदान चाहते हैं यदि हमारे यहाँ बैठने से प्रशासन को मदद मिलती है तो हम तैयार हैं। हमने सब जनता पर छोड़ दिया है उधर सतीश सिंह सिकरवार ने भी कहा कि कहीं कोई बात नहीं है। आरोप प्रत्यारोप चुनाव में लगते रहते हैं। प्रशासन ने सहयोग के लिए बुलाया था तो हम आ गए।कांग्रेस शांति पूर्ण चुनाव चाहती है इसलिए हम यहाँ बैठे हैं।

हालांकि प्रशासन का कहना है कि कहीं से कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं है, दोनों तरफ से आरोप लग रहे थे इसलिए हमने दोनों प्रत्याशियों को यहाँ बुलाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here