MP उपचुनाव 2020 : कांग्रेस को बड़ा झटका- राजेंद्र गुर्जर समेत 3 नेता BJP में शामिल

Rajendra Gurjar

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। 3 नवंबर को मतदान (Voting) और 10 को 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के परिणाम (Result) आने है, लेकिन इसके पहले मध्यप्रदेश उपचुनाव (By-election) होना है, लेकिन इसके पहले मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में दलबदल का सिलसिला तेजी से चल रहा है। हाल ही में कांग्रेस के प्रदेश महासचिव डाॅ एनपी पटेल (Dr. NP Patel) BJP मे शामिल हुए थे और अब  कांग्रेस के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव और वरिष्ठ नेता राजेंद्र गुर्जर (State General Secretary of Backward Class Cell of Congress Rajendra Gurjar) ने  भाजपा का दामन थाम लिया है।

दरअसल, उपचुनाव से पहले प्रदेश में तोड़-फोड़ का सिलसिला तेजी से चल रहा है। आए दिन नेता बीजेपी से कांग्रेस और कांग्रेस से बीजेपी में शामिल हो रहे है, हालांकि बीजेपी से कांग्रेस में शामिल होने वालों की संख्या कम है, लेकिन कांग्रेस में नेताओं के टूटने का सिलसिला तेजी से चल रहा है। अब उपचुनाव से ठीक 3 हफ्ते पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है।कांग्रेस के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव और वरिष्ठ नेता राजेंद्र गुर्जर ने BJP मे शामिल हो गए है।उन्होंने आज मंगलवार को  भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (BJP MP Jyotiraditya Scindia) के समक्ष भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

वही ग्वालियर (Gwalior) कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता पंकज शर्मा (Former spokesperson Pankaj Sharma) व किसान कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री रमेशचंद्र शर्मा (State General Secretary Rameshchandra Sharma) ने दिल्ली पहुंचकर सिंधिया के समक्ष भाजपा का दामन थामा। शिवराज सरकार (Shivraj government) में कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट (Cabinet Minister Tulsi Silavat) ने सभी नेताओं का स्वागत किया है। सिलावट ने ट्वीट कर लिखा है कि पूरे देश का विश्वास, भाजपा के साथ आज कांग्रेस के पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव, वरिष्ठ नेता राजेंद्र गुर्जरजी ने भाजपा सांसद सिंधिया के समक्ष बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। राष्ट्रवाद की मुख्यधारा में आपका अभिनंदन है राजेन्द्रजी।

कंग्रेस के पिछड़ा वर्ग के प्रदेश महासचिव और भिंड जिला इकाई के उपाध्यक्ष राजेंद्र गुर्जर ने प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ (Congress State President Kamal Nath) को लिखे इस्तीफा में कहा है कि राज्य के उप-चुनाव (By-election) में टिकट वितरण में कांग्रेस ने पिछड़े वर्ग एवं गुर्जर समाज की उपेक्षा की है। इस वर्ग के लोगों में रोष और असंतोष है। इसको देखते हुए दोनों पदों से इस्तीफा देता हूं। गुर्जर भिंड के मेहगांव विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के टिकट के बड़े दावेदार थे। उन्हेंने वर्ष 2018 में फूल सिंह बरैया की पार्टी से विधानसभा का चुनाव लड़ा था और 20 हजार से ज्यादा वोट पाए थे। उसके बाद लोकसभा चुनाव के दौरान सिंधिया के समर्थन में कांग्रेस का दामन थामा था और अब वे सिंधिया की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हुए है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here