मप्र उपचुनाव: यहां ग्रामीणों ने किया मतदान का बहिष्कार, लाइट नहीं तो वोट नहीं के नारे लगाए

मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर शांतिपूर्वक तरीके से मतदान प्रक्रिया संपन्न हो रही है। दोपहर एक बजे तक 42.71 प्रतिशत वोटिंग हो चुकी थी। मतदान के दौरान कुछ जगहों पर हिंसा और झड़प भी हुई।

रायसेन, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में 28 विधानसभा सीटों (Assembly seats) पर शांतिपूर्वक तरीके से मतदान प्रक्रिया संपन्न हो रही है। दोपहर एक बजे तक 42.71 प्रतिशत वोटिंग हो चुकी थी। मतदान के दौरान कुछ जगहों पर हिंसा और झड़प भी हुई। सुमावली विधानसभा सीट पर आधा दर्जन जगहों पर हिंसा हुई और फायरिंग हुई है। भिण्ड (bhind) के मेहगांव में दो जगहों पर फायरिंग हुई है। वहीं रायसेन जिले में मतदाताओं ने चुनाव का बहिष्कार किया।

सांची विधानसभा क्षेत्र के देवरीगढ़ी गांव में ग्रामीणों ने ग्रामीणों ने उपचुनाव का बहिष्कार किया। ग्रामीणों ने लाइट नही तो वोट नही की नारेबाजी करते हुए चुनाव के बहिष्कार का निर्णय लिया। यहां से वोटर लिस्ट में लगभग 500 मतदाताओं के नाम है लेकिन सुबह से अभी तक कुल मिलाकर केवल 25 वोट ही डले हैं। मतदान के बहिष्कार की सूचना मिलते ही मौके पर तहसीलदार और थाना प्रभारी डीडी आजाद गांव पहुंचे, जहां ग्रामीणों को समझाइश देकर वोट डालने की अपील की गई।

गौरतलब है कि मप्र की राजनीति में पहली बार एक साथ 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहा है। उपचुनाव में भाजपा और कांग्रेस की साख दांव पर लगी है। चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को आएंगे। इन महत्वपूर्ण उपचुनाव में 12 मंत्रियों सहित 355 प्रत्याशियों के राजनीतिक भविष्य का निर्णय होगा। प्रदेश में हो रहे उपचुनाव में 63,67,751 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here