तीखी हुई उपचुनाव की जंग, शिवराज सिंह चौहान ने किसे बताया ‘मिस्टर 15 परसेंट’

शिवराज और कमलनाथ के बीच तीखी हुई जंग, कमलनाथ को बाहरी बताते हुए कहा कोई कांग्रेसी बता दे कमलनाथ का नरा कहां गड़ा है, मध्य प्रदेश में न गांव है न थाओ

Shivraj-Singh-Chouhan

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| मध्य प्रदेश (MadhyaPradesh) की 28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव (Byelection) की जंग अब रोचक हो गई है, नेताओं के भाषण में अब रोज नए शब्द निकलकर सामने आ रहे हैं| एक दूसरे पर जुबानी हमलों का दौर जारी है| इसी क्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने एक चुनावी सभा में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) को परदेसी बताया| वहीं कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा दिल्ली में ‘मिस्टर 15 पर्सेंट’ किसको कहा जाता है, यह सब जानते हैं|

शुक्रवार को मुरैना जिले की सुमावली विधानसभा क्षेत्र में आयोजित सभा में शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ को निशाने पर लिया| उन्होंने कहा अभी कमलनाथ यहां परसो आये थे, इससे पहले वर्षों तक नहीं आये, आये लेकिन विकास के लिए नहीं आये| कमलनाथ कहते हैं कि ऐदल सिंह कंसाना पर शिकंजा कस रहा था, तुम शिकंजा कसने वाले कहाँ से आये हो, मध्य प्रदेश में न तो तुम्हारा गांव हैं न थाओ| कमलनाथ को बाहरी बताते हुए शिवराज ने कहा कोई कांग्रेसी बता दे कि कमलनाथ का नरा कहां गड़ा है, तुम तो ठहरे परदेसी साथ क्या निभाओगे| उन्होंने कहा कि कंसाना या भाजपा कोई रसगुल्ला नहीं जो निगल जाओ, पेट फाड़ कर बाहर निकल पड़ेंगे|

खुद को मिस्टर क्लीन बतातें हैं, दिल्ली में ‘मिस्टर 15 परसेंट’ किसको कहा जाता है
सीएम शिवराज ने कहा कमलनाथ ने पूरे मध्य प्रदेश को तबाह और बर्बाद कर दिया, दलालों का अड्डा बना दिया, रोज पैसे समेटना, अधिकाँश खुद ले जाना और थोड़े बहुत बाँट देना| शिवराज ने कहा खुद को मिस्टर क्लीन बतातें हैं, दिल्ली में ‘मिस्टर 15 परसेंट’ किसको कहा जाता हे यह पूरी दुनिया जानती है| कांग्रेस की सरकार के पाप का घड़ा जब मध्यप्रदेश में भर गया, तो सिंधिया जी और उनके साथियों ने मिलकर उसमें डंडा मारकर फोड़ दिया। जो मुख्यमंत्री गरीबों का पेट न भर पाए, वह पद पर रहने लायक ही नहीं है। कमलनाथ जी जब तक मुख्यमंत्री रहे, पैसे न होने का रोना रोते रहे|

पूरी पिक्चर अभी बाकी
मुख्यमंत्री शिवराज ने कहा मध्यप्रदेश में हमने छह महीने में जो विकास के कार्य किये, वह तो सिर्फ एक ट्रेलर है। पूरी पिक्चर अभी बाकी है। कमलनाथ के पास गरीब और किसान के लिए पैसा नहीं था, लेकिन आईफा के लिए करोड़ों रुपये उन्होंने बर्बाद कर दिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here