गोडसे जिंदाबाद के नारे लगे तो कांग्रेस ने पूछा ‘हत्या में शामिल सिंधिया परिवार बताए कहीं ये उनकी शह पर तो नहीं?’

राष्ट्रपिता के हत्यारे के जिंदाबाद के नारे लगे तो कांग्रेस ने सिंधिया परिवार पर हमला करते हुए सवाल किया

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। उप चुनाव (Bye election) में प्रचार की तेज होती रफ्तार के बीच नेताओं के एक दूसरे पर जुबानी हमले भी तेज हो गए हैं। नेता एक दूसरे पर हमला करने का एक भी मौका नहीं छोड़ रहे। ताजा मामला ग्वालियर (Gwalior) का है, जहाँ मंगलवार को राष्ट्रपिता के हत्यारे के जिंदाबाद के नारे लगे तो कांग्रेस ने सिंधिया परिवार (Scindia Family) पर हमला करते हुए सवाल किया कि कहीं ये आपकी शह पर तो नहीं?

दरअसल अखिल भारत हिंदू महासभा (All India Hindu Mahasabha) ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Father of the Nation Mahatma Gandhi) के हत्यारे नाथूराम गोडसे (Nathuram Godse) को अपना आराध्य मानती है और उसकी पूजा करती है। मंगलवार को पार्टी ने जिला प्रशासन द्वारा नवंबर 2017 में जब्त नाथूराम गोडसे की मूर्ति को वापस मांगते हुए चेतावनी पत्र सौंपा। इस दौरान पार्टी ने गोरखी स्थित एसडीएम लश्कर के कार्यालय का घेराव किया और नाथूराम जिंदाबाद, नाथूराम अमर रहे के नारे भी लगाए। गोडसे के जिंदाबाद के नारे लगने के बाद कांग्रेस ने सिंधिया परिवार पर हमला बोला है। पार्टी के ग्वालियर चंबल संभाग के मीडिया प्रभारी केके मिश्रा (KK Mishra) ने ट्वीट कर कहा “ग्वालियर में आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के हत्यारे गोडसे के जिंदाबाद के नारे लगे। उसकी प्रतिमा लौटाने की मांग हुई। हत्या में शामिल सिंधिया परिवार बताये, क्या यह उनकी शह पर तो नहीं? इतने बड़े अपराध पर शिवराज जी की खामोशी? गौरतलब है ये पहला मौका नहीं है जब ग्वालियर में गांधी जी की हत्यारे नाथूराम गोडसे की पूजा या उसके जिंदाबाद के नारे लगे हों। अखिल भारत हिंदू महासभा पिछले कुछ वर्षों से ग्वालियर में लगातार ऐसा कर रही है।भले ही कार्यालय में स्थापित मूर्ति प्रशासन ने नवंबर 2017 में जब्त कर ली हो लेकिन पार्टी नाथूराम गोडसे के चित्र पर माला पहनाकर उसकी पूजा करती है और ये अलग अलग मौकों पर होता रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here