PM Kisan: 1.22 लाख किसानों के लिए बड़ी खबर, अटक सकती है 11वीं किस्त, जानें कारण

केन्द्र सरकार द्वारा अपील करने के बावजूद अब 1,22,547 लाख किसानों ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत ई-केवाईसी नही करवाई है।

farmers loan waiver scheme

अमेठी, डेस्क रिपोर्ट। PM Kisan Yojana. पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा 31 मई को शिमला से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Yojana 11th Installment) की 11वीं किस्त जारी की जाएगी,लेकिन यूपी के अमेठी के 1.22 लाख किसानों की किस्त पर संकट गहरा सकता है, इन किसानों की किस्त अटक सकती है, इसका कारण अब तक ई-केवाईसी ना कराना है।इधर, ई-केवाईसी की आखरी डेट 31 मई 2022 है।

यह भी पढ़े..PM Kisan: आने वाली है 11वीं किस्त, सीधे खाते में आएंगे 2000, जल्द लिस्‍ट में चेक करें अपना नाम

दरअसल,  प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत जिले में 3,33,466 किसान पंजीकृत है, इसमें जनवरी में 10 वी किस्त के लिए 2,89,737 किसानों को जोड़ते हुए अनुदान राशि उनके बैंक खाते में अंतरित की गई। वही 2731 आयकर दाता, 542 मृतक व 1189 किसानों को अपात्र घोषित किया गया। इसके बाद पात्रों को लाभ और गड़बड़ी से बचने के लिए सरकार द्वारा ई-केवाईसी अनिवार्य कर दी गई।

यह भी पढ़े….राज्य पुलिस सेवा के इस अधिकारी को जल्द मिलेगा प्रमोशन, हाईकोर्ट ने सरकार को दिए ये निर्देश

केन्द्र सरकार द्वारा अपील करने के बावजूद अब 1,22,547 लाख किसानों ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत ई-केवाईसी नही करवाई है। शनिवार तक 1,60,156 किसानों ने ही ई-केवाईसी कराई।उपनिदेशक कृषि सत्येंद्र सिंह चौहान ने योजना से लाभान्वित किसानों से 30 मई तक प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना की वेबसाइट पर ई-केवाईसी लिंक के माध्यम से अपने स्मार्ट फोन की मदद से ई-केवाईसी कराने की अपील की है। प्रत्येक दशा में किसानों से 30 मई तक ई-केवाईसी पूर्ण कराने की अपील करते हुए ई-केवाईसी नहीं होने से योजना से वंचित होने पर किसान की स्वयं की जिम्मेदारी की बात कही गई है।

यह किसान होंगे योजना के अपात्र
संस्थागत भूमि स्वामी, ऐसा कृषक परिवार, जिसमें एक या एक से अधिक निम्न श्रेणी के सदस्य हों। भूतपूर्व व वर्तमान समय में संवैधानिक पदों पर तैनात, सभी सेवानिवृत्त पेंशनर्स तथा जिनकी मासिक पेंशन 10 हजार रुपये हो।
आयकर दाता, चिकित्सक, इंजीनियर, अधिवक्ता, चार्टर्ड अकाउंटेंट, आर्किटेक्ट अपात्र श्रेणी में आएंगे। इसके अलावा राज्यमंत्री, विधानसभा, राज्यसभा, राज्य परिषद, लोकसभा के वर्तमान या भूतपूर्व सदस्य, नगर पालिका, नगर पंचायत व नगर निगम के अध्यक्ष व महापौर अपात्र की श्रेणी में रखे गए हैं।

बता दें कि पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Yojana) योजना के तहत मोदी सरकार 2,000 रुपये की तीन किस्त यानी 6000 रुपये सालाना किसानों को देती है। यह पैसा डीबीटी यानी डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के जरिए सीधे किसानों के खाते में पहुंचता है।  हालांकि, कई नियमों में बदलाव और लाखों किसानों द्वारा e-KYC की प्रकिया पूरा नहीं होने की वजह अभी तक इस किस्त को किसानों के खाते में भेजा नहीं जा सका है।

ऐसे करें ई-केवाईसी

Offline e-KYC Process-अगर आपने अब तक ई-केवाईसी नहीं करवाई है, तो आप इसके लिए अपने नजदीकी सीएससी केंद्र जा सकते हैं। वहां पर आप अपने आधार कार्ड की मदद से ई-केवाईसी करवा सकते हैं।

Online e-KYC Process- 

  •  आधिकारिक वेबसाइट पर https://pmkisan.gov.in/ पर जाएं और किसान कॉर्नर विकल्प पर eKYC लिंक दिखाई देगा। इस पर क्लिक करें।
  • अपना आधार नंबर दर्ज करें और सर्च बटन पर क्लिक करें और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्राप्त होगा।
  •  यहां मांगी गई जरूरी जानकारियों को दर्ज करें औरइसके बाद सब्मिट पर क्लिक करते ही प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

PM KISAN HELPLINE NUMBER 

  1. पीएम किसान टोल फ्री नंबर: 18001155266
  2.  पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर:155261
  3.  पीएम किसान लैंडलाइन नंबर्स: 011—23381092, 23382401
  4. पीएम किसान की नई हेल्पलाइन: 011-24300606
  5. पीएम किसान की एक और हेल्पलाइन है: 0120-6025109
  6.  ई-मेल आईडी: pmkisan-ict@gov.in