वरिष्ठ बीजेपी नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री का निधन, सीएम शिवराज-सिंधिया ने जताय शोक

लगातार तीन बार  कांग्रेस के दिग्गज नेता तथा पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (Harish Rawat) को चुनाव में पटखनी दी थी।

पूर्व विधायक

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। BJP के वरिष्ठ नेता और  पूर्व केन्द्रीय मंत्री बची सिंह रावत (Former Union Minister Bachi Singh Rawat) का रविवार देर निधन हो गया है, उनका अंतिम संस्कार आज शाम 4 बजे रानीबाग के चित्रशिला घाट पर किया गया। उनके निधन की खबर लगते ही बीजेपी में शोक की लहर दौड़ गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan), राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) और पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) समेत कई नेताओं ने उनके निधन पर दुख जताया है। 

यह भी पढ़े.. विधायक और पूर्व मंत्री का कोरोना से निधन, मुख्यमंत्री ने जताया शोक

मिली जानकारी के अनुसार, बीते दिनों पूर्व केंद्रीय मंत्री और उत्तराखंड (Uttarakhand) भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बची सिंह रावत कोरोना की चपेट में आ गए थे, जिसके बाद उन्हें शनिवार को फेफड़ों में संक्रमण होने के चलते हल्द्वानी से हेलीकॉप्टर द्वारा अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश (AIIMS Rishikesh) में भर्ती कराया गया था। लेकिन उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ और तबियत बिगडती चली गई और देर रात उनका इलाज के दौरान निधन हो गया। पूर्व केन्द्रीय मंत्री के निधन की खबर सुनते ही प्रदेश भाजपा में शोक की लहर दौड़ गई।

पीएम से लेकर सांसदों ने जताया शोक

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री बची सिंह रावत जी के निधन से बहुत दुख पहुंचा है। उनका पूरा जीवन जनहित और देशहित में समर्पित रहा। शोक की इस घड़ी में उनके परिजनों और शुभचिंतकों के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। ओम शांति!

मुख्यमंत्री शिवराज ने ट्वीट कर लिखा है कि भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री श्री बची सिंह रावत जी के निधन का दुखद समाचार मिला। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति और परिजनों को यह गहन पीड़ा सहन करने की शक्ति प्रदान करें। विनम्र श्रद्धांजलि!

यह भी पढ़े.. JNVST 2021: 16 मई को होने वाली नवोदय विद्यालयों की प्रवेश परीक्षा स्थगित, जाने क्या है नई डेट

सिंधिया ने ट्वीट कर लिखा है कि भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री श्री बची सिंह रावत जी के निधन का दुखद समाचार प्राप्त हुआ है। शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों व प्रशंसकों के साथ है। ॐ शांति!

ऐसा था राजनीतिक सफर

  • 1982 में पहली बार वह उत्तर प्रदेश विधानसभा (Uttar Pradesh Assembly) के सदस्य चुने गए।
  • 1993 में दोबारा विधायक (MLA) का चुनाव लड़ा और जीते।
  • 1992 में 4 महीने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) में राजस्व मंत्री बनें।
  • 1996 में लोकसभा चुनाव (Loksabha Election) जीतकर सांसद बने ।
  • 1996 से 1997 तक संसद की कई कमेटी के सदस्य रहे।
  • 1998 से 99 तक फिर महत्वपूर्ण कमेटियों जैसे सूचना प्रसारण मंत्रालय के सलाहकार रहे।
  • 1999 में दोबारा लोकसभा चुनाव हुए और तीसरी बार रिकॉर्ड मार्जिन से सांसद चुनकर आए। 1999 में पहली बार केंद्र सरकार में रक्षा राज्य मंत्री का पद संभाला।
  • 1999 से 2004 तक निरंतर विज्ञान और तकनीकी केंद्रीय राज्य मंत्री रहे।
  • 2004 से 2006 में फिर से लोकसभा सांसद बने।
  • 2007 उत्तराखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बने। इनके नेतृत्व में पार्टी ने विस चुनाव में बहुत से चुनाव जीता।
  • 2009 तक इस पद पर बने रहे।
  • 2012 उत्तराखंड चुनाव में भाजपा प्लानिंग कमेटी के चेयरमैन रहे और मेनिफेस्टो बनाने में अहम भूमिका निभाई।
  • उत्तर प्रदेश से दो बार विधायक रहे, लेकिन उत्तराखंड विधानसभा चुनाव कभी नहीं लड़ा।
  • उत्तराखंड से एक ही सीट से लगातार चार बार सांसद बनने का रिकॉर्ड।
  • लगातार तीन बार  कांग्रेस के दिग्गज नेता तथा पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत (Harish Rawat) को चुनाव में पटखनी दी।
  • वरिष्ठ भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी के करीबी माने जाने वाले रावत अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की सरकार में विज्ञान और प्रोद्यौगिकी राज्य मंत्री रहे ।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री पूर्व केन्द्रीय मंत्री