बसपा सुप्रीमो मायावती का बड़ा ऐलान, भतीजे आकाश आनंद को बनाया पार्टी का उत्तराधिकारी

Shashank Baranwal
Published on -
bsp

Mayawati Akash Anand: उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती ने रविवार को लखनऊ में एक बैठक आयोजित कर बड़ा फैसला किया है। उन्होंने बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय समन्वयक और भतीजे आकाश आनंद को पार्टी का उत्तराधिकारी बनाने का ऐलान किया है। आपको बता दें इस मीटिंग में मायावती ने राष्ट्रीय स्तर के नेता और पार्टी के अन्य राज्य पदाधिकारियों को बुलाया था। वहीं बसपा नेता उदयवीर सिंह ने कहा है कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने भतीजे आकाश आनंद को पार्टी का उत्तराधिकारी बनाने की घोषणा की है।

आखिर आकाश आनंद कौन हैं?

आपको बता दें आकाश आनंद बसपा सुप्रीमो मायावती के भाई आनंद कुमार के बेटे हैं। जिन्होंने लंदन से मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (एमबीए) की पढ़ाई की है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने पहली बार साल 2017 में अपने भतीजे आकाश आनंद राजनीति में लाने की घोषणा की थी। पहली बार आकाश आनंद को मायावती के साथ सहारनपुर की रैली में उन्हें देखा गया था। बाद में साल 2019 में आकाश आनंद को बसपा का राष्ट्रीय समन्वयक भी बनाया गया था। इसी वक्त बसपा और समाजवादी पार्टी का गंठबंधन टूट गया था। गौरतलब है कि आकाश आनंद को गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान में पार्टी को मजबूत करने का काम भी सौंपा गया था।

Continue Reading

About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है– खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो मैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।