आखिर क्यों करना पड़ा भैंस का DNA, वजह जानकर रह जायेंगे हैरान

बहरहाल भैंस के DNA का मामला अब शामली से निकलकर उत्तरप्रदेश और उसके बाहर चर्चा का विषय जरूर बन गया है।       

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट।  इंसान के बच्चों के असली माता पिता का पता करने के लिए DNA टेस्ट आपने सुना होगा लेकिन  कभी किसी पशु का DNA (Animal DNA) टेस्ट सुना है ? नहीं सुना ना, तो हम आज आपको इसकी जानकारी देते है कि ऐसा हुआ है।

ये मामला उत्तर प्रदेश के शामली (Shamli News) का है, जहाँ भैंस और उसके बच्चे का DNA टेस्ट हुआ है। मामला भैंस के बच्चे की चोरी से जुआ है। दर असल शामली जनपद के झिंझाना थाना क्षेत्र के गांव में रहने वाले पशुपालक चंद्रपाल कश्यप के घर से दो साल पहले 25 अगस्त 2020 को भैंस का बच्चा चोरी हो गया था।

ये भी पढ़ें – क्या है आपका Fashion statement..तस्वीरों में देखिये कुछ अलबेले अंदाज

उन्होंने बहुत तलाश किया, जब बच्चा नहीं मिला तो उन्होंने पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवा दी।  इसी दौरान कुछ समय पहले उन्हें मालूम चला कि उनकी भैंस का बच्चा सहारनपुर के बीनपुर गांव में है।  चंद्रपाल कश्यप उस घर में पहुंचे और अपनी भैंस के बच्चे को वापस देने के लिए कहा लेकिन जिनके घर बच्चा था उन्होंने लौटने से इंकार कर दिया।

ये भी पढ़ें – कागज का यह business बड़ा ही सुपरहिट है, एक बार शुरू करने पर होती है हर महीने कमाई

चंद्रपाल कश्यप फिर पुलिस के पास पहुंचे और उन्होंने पूरी घटना बताई, पीड़ित ने बच्चा वापस नहीं किये जाने पर  पुलिस, प्रशासन के आला अधिकारियों से लेकर मुख्यमंत्री तक को पत्र लिखकर शिकायत कर दी। मामला बढ़ता देख शामली के एसपी सुकीर्ति माधव ने भैंस और उसके बच्चे का DNA टेस्ट कराने के आदेश दे दिए।

ये भी पढ़ें – BJP ने उप चुनावों के लिए घोषित किये उम्मीदवार, इस भोजपुरी सुपर स्टार को टिकट

आदेश के बाद पशु चिकित्सकों की टीम ने भैंस और उसके बच्चे का DNA (Buffalo DNA test) टेस्ट कर लिया है, अब इसकी रिपोर्ट आने के बाद ही तय हो पायेगा कि चंद्रपाल जिसे अपनी भैंस का बच्चा बता रहे हैं वो वही है कि नहीं। बहरहाल भैंस के DNA का मामला अब शामली से निकलकर उत्तरप्रदेश और उसके बाहर चर्चा का विषय जरूर बन गया है।