नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना वैक्सीन (vaccine) का पहला डोज लेने के बाद अगर कोई व्यक्ति संक्रमित हो जाता है तो फिर उसे दूसरा डोज तीन महीने बाद लगेगा। सरकारी पैनल नेशनल एक्सपर्ट ग्रुप ऑन वैक्सीन एडमिनिस्ट्रेशन (NEGVAC) ने इसे लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय को सलाह दी है जिसे केंद्र सरकार ने स्वीकार कर लिया है।

जबलपुर नकली इंजेक्शन मामला, सरबजीत सिंह मोखा की बढ़ी मुश्किलें, एसआईटी टीम को मिले अहम सबूत

NEGVAC की नई सिफारिशों के मुताबिक अगर वैक्सीन का पहला डोज लेने के बाद कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव (corona positive) होता है तो फिर उसे दूसरा डोज तीन महीने बाद ही लगाया जाएगा। साथ ही कोरोना संक्रमित व्यक्ति जिसे प्लाज्मा दिया गया है उसे भी अस्पताल से डिस्चार्ज होने के तीन महीने बाद वैक्सीन दी जाएगी। स्तनपान कराने वाली महिलाओं को कोरोना वैक्सीन की सिफारिश की गई है। गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन देने पर फिलहाल विचार किया जा रहा है। वहीं अन्य गंभीर बीमारी से गुजरने वाले व्यक्ति को वैक्सीन लगाने से पहले 4-8 सप्तार का इंतजार करना होगा। इसी के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि टीका लगवाने या कोरोना संक्रमित होने के बाद आरटीपीसीआर में निगेटिव रिपोर्ट के 14 दिन बाद व्यक्ति रक्तदान कर सकता है।