क्रिकेटर युवराज सिंह हिसार में गिरफ्तार, अनुसूचित जाति के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी का मामला

डेस्क रिपोर्ट। विश्व प्रसिद्ध पूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह को हरियाणा के हांसी में अनुसूचित जाति के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी पर दर्ज मामले में हिसार पुलिस ने गिरफ्तार कर किया है। हालांकि बाद में उन्हे औपचारिक जमानत पर रिहा कर दिया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार क्रिकेटर युवराज सिंह को पिछले साल अनुसूचित जाति के प्रति अपमानजनक टिप्पणी के मामलें में गिरफ्तार किया गया है। यह घटना उस समय है कि 2020 में युवराज सिंह क्रिकेटर रोहित शर्मा से लाइव चैट कर रहे थे। उस दौरान उन्होंने युजवेंद्र चहल पर अनुसूचित जाति के प्रति अपमानजनक टिप्पणी की थी। युवराज सिंह हाई कोर्ट के आदेश के बाद चंडीगढ़ पहुंचे थे। जहां पर हिसार पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उनसे पूछताछ की है।

10453 कंप्यूटर ऑपरेटरों की निकली स्थायी भर्ती, सरकार ने निकाले आदेश

जानकारी के अनुसार एक साल पुराने इस विवाद मामले में युवराज सिंह कि गिरफ्तारी हुई है। जिसके फ़ौरन बाद उन्हें जमानत भी दे दी गई है। हाईकोर्ट के आदेशों पर युवराज सिंह को औपचारिक जमानत पर छोड़ा गया है। कुछ सवालों के जवाब उनसे जानें और फिर ‌अग्रिम जमानत के कागजातों के आधार पर उन्हें छोड़ दिया गया। हालांकि कहा जा रहा है की उन्हें शनिवार को गिरफ्तार किया गया था और तीन घंटे की पूछताछ के बाद फिर छोड़ दिया गया।

MP में बढ़ी कोरोना की रफ्तार, आज फिर 5 पॉजिटिव, इन जिलों ने बढ़ाई चिंता

पुलिस सूत्रों के अनुसार विशेष वर्ग पर टिप्पणी करने के मामले में सुबूत जुटाने के लिए पुलिस ने युवराज का मोबाइल जब्त कर लिया है। हांसी पुलिस अब युवराज सिंह के खिलाफ अदालत में चालान पेश करेगी। इसके बाद युवराज को विशेष अदालत से नियमित जमानत हासिल करनी पड़ेगी। युवराज को हिसार में अनुसूचित जाति/जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत स्थापित विशेष अदालत में हर तारीख पेश होना होगा। यदि अपराध साबित होता है तो इस मामले में उन्हें 5 साल तक की सजा हो सकती है।