मनी लॉन्ड्रिंग केस में डिनो मोरिया और अहमद पटेल के दामाद की संपत्ति जब्त, ED की कार्रवाई

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। मनी लॉन्ड्रिंग के एक बड़े मामले में अभिनेता डिनो मोरिया (DINO Moreo) फंसते नजर आ रहे हैं। गुजरात के संदेसरा बंधुओं द्वारा 14,500 करोड़ रुपये के बैंक ऋण धोखाधड़ी से जुड़े मामले में डीनो मोरिया और दिवंगत कांग्रेस नेता अहमद पटेल के दामाद इरफान अहमद सिद्दीकी की करोड़ों की संपत्ति जब्त की गई है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) के मुताबिक मनी लॉन्ड्रिंग के इस मामले में संदेसरा बंधुओं के साथ इरफान अहमद सिद्दीकी के बीच लेनदेन का खुलासा हुआ है और इसी मामले से डीनो मोरिया के जुड़े होने की जानकारी भी सामने आई।

Airtel का धमाकेदार पैकेज-1 प्लान में मोबाइल-ब्रॉडबैंड और DTH रिचार्ज, जानें पूरी डीटेल

ईडी ने कहा कि वित्तीय जांच एजेंसी ने धन शोधन रोकथाम अधिनियम ((पीएमएलए) के प्रावधान के तहत आठ अचल संपत्तियां, तीन वाहन और कई बैंक खाते,शेयर, म्यूचुअल फंड कुर्क किए गए हैं जिनकी कुल कीमत 8.79 करोड़ रुपए है। इसमें इरफान अहमद सिद्दीकी के नाम 2.41 करोड़ रुपए और डीनो मोरिया की 1.4 करोड़ रुपए की संपत्ति कुर्क की गई है। बताया जा रहा है कि संदेसरा परिवार ने घोटाले की राशि में से 3 करोड़ रुपए, 1.4 करोड़ रुपए, 12.54 करोड़ रुपए और 3.51 करोड़ रुपए संजय खान, डिनो मोरिया, अकील बचूअली और इरफान अहमद सिद्दीकी को दिए गए थे।

इस मामले में कथित तौर पर 14,500 करोड़ की बैंक ऋण धोखाधड़ी हुई है। आरोपियों में स्टर्लिंग बायोटेक और इसके मुख्य प्रमोटरों और डायरेक्टरों में से नितिन जयंतीलाल संदेसरा, चेतनकुमार जयंतीलाल संदेसरा और दीप्ति संदेसरा गायब हैं। नितिन और चेतनकुमार आपस में भाई हैं और 2017 में अन्य लोगों के साथ भारत से भाग गए थे। विशेष अदालत ने नितिन संदेसरा, चेतन संदेसरा, दीप्ति चेतन संदेसरा और हितेश पटेल को भगोड़ा घोषित किया है।