कोरोना की फेक न्यूज पर सरकार सख्त, फेसबुक, ट्विटर ने डिलीट की कई भ्रामक पोस्ट

केंद्र सरकार (central government) ने इस सिलसिले में सख्त रुख अपनाते हुए ट्विटर (twitter) और फेसबुक (facebook) से कोरोना संबंधी ऐसी भ्रामक पोस्टों को हटाने के निर्देश दिए हैं। ट्विटर ने कहा है कि भारत सरकार के निवेदन पर उसने ये काम करना आरम्भ कर दिया है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना (corona) महामारी के इस दौर में पूरा देश कोरोना से जंग लड़ रहा है। सरकार, फ्रंट लाइन वर्कर्स (front line workers) के साथ जनता भी कोरोना की रोकथाम हेतु अनंत प्रयास कर रही है। ऐसे में कुछ लोग अपने सोशल मीडिया (social media) के माध्यम से कोरोना संबंधी फेक या गलत खबरें (fake news) फैला रहे है जिससे लोगों में चिंता बढ़ रही है। केंद्र सरकार (central government) ने इस सिलसिले में सख्त रुख अपनाते हुए ट्विटर (twitter) और फेसबुक (facebook) से कोरोना संबंधी ऐसी भ्रामक पोस्टों को हटाने के निर्देश दिए हैं। ट्विटर ने कहा है कि भारत सरकार के निवेदन पर उसने ये काम करना आरम्भ कर दिया है।

यह भी पढ़ें… शिवराज सरकार ने की ऑक्सीजन टैंकर की व्यवस्था, संक्रमित इलाकों पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश

दरअसल कई दिनों से देखने को मिल रहा है की सोशल मीडिया पर लोग कोरोना महामारी से संबंधित अप्रमाणित और भ्रामक खबरों को अपने सोशल मीडिया के ज़रिए शेयर कर रहे हैं। इससे समाज में कोरोना को लेकर डर और बेचैनी बढ़ रही है। सरकार ने अब इस ओर ध्यान केंद्रित करते हुए फेसबुक और ट्विटर से इन भ्रामक पोस्टों को हटा देने का अनुरोध किया है। ट्विटर ने ये काम शुरू भी कर दिया है। ट्विटर ने उन अकाउंट होल्डर्स को जानकारी दे दी है जिनकी पोस्ट ट्विटर से हटाई जा रही हैं। हालांकि, इन अकाउंट की विस्तृत जानकारी ट्विटर ने नहीं दी है।

यह भी पढ़ें… सीहोर में कोरोना के इलाज हेतु युवा भाजपा नेता की पहल , गरीबों के लिए सीटी स्कैन किया निःशुल्क

ल्यूमेन डेटाबेस जो कि एक स्वतंत्र शोध परियोजना है उसके हिसाब से ट्विटर ने भारत सरकार के निवेदन पर 50 के करीब पोस्टें हटाई हैं। आम जन के साथ इन पोस्टों में संसद सदस्य, विधायक और फ़िल्म निर्माताओं के भी ट्वीट शामिल हैं। इस कदम को उठाने से पहले उन सभी अकाउंट होल्डर्स को सूचित कर दिया गया था ताकि उन्हें ये मालूम रहे कि ये कदम भारत सरकार के नियमों के तहत लिया जा रहा है।