IMD Alert: महाराष्ट्र सहित 17 राज्यों में 30 जून तक भारी बारिश, वज्रपात-आंधी का येलो अलर्ट, तेज रफ्तार में आगे बढ़ रहा मानसून, साइक्लोनिक सर्कुलेशन सहित दो प्रणाली सक्रिय, जानें दिल्ली-यूपी-बिहार पर पूर्वानुमान

weather forecast

IMD Alert, Today Weather Update : देश के मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहे हैं। भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। वहीं भूस्खलन आदि की चेतावनी भी जारी की गई है। देश के 20 से अधिक राज्यों में मानसून की एंट्री हो चुकी है। वहीं मानसूनी बारिश का दौर भी शुरू हो गया है। पर्वतीय राज्यों में भी मानसून की आहट से पहले प्री मानसून गतिविधि जा रही है। हिमाचल, उत्तराखंड के कई क्षेत्रों में मानसून का असर दिख रहा है। जबकि कुछ क्षेत्रों में जल्दी मानसून का प्रवेश माना जाएगा।

15 से अधिक राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी

इसी बीच राजधानी दिल्ली सहित 15 से अधिक राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। राजधानी दिल्ली में आज आसमान में बादल छाए रहेंगे। वही 60% बारिश की संभावना जताई गई है। बिहार में मानसून की रफ्तार तेज हो गई है। कई जिले में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है जबकि दिल्ली के मौसम की बात करें तो दिल्ली में न्यूनतम तापमान 26 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जा सकता है। तेज रफ्तार हवा चलेगी। वही शुक्रवार से भारी बारिश का दौर शुरू होगा।

बिहार में अगले 5 दिन तक भारी बारिश की चेतावनी 

बिहार में अगले 5 दिन तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग के ने अपने पूर्वानुमान में कई जिले में भारी बारिश का अलर्ट जताया है। ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए वज्रपात की भी चेतावनी जारी की गई है। राजधानी पटना सहित पूरे प्रदेश में 25 जून को मानसून प्रवेश कर चुका है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 4 दिन तक पटना सहित राज्य के अधिकतर जिले में मध्यम स्तर की बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वहीं सुपौल, अररिया, किशनगंज पूर्णिया और कटिहार में ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। इससे पहले वज्रपात से कई लोगों के जानमाल की भी नुकसान देखी गई थी जबकि सोमवार को 27 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है। राज्य में मानसून की अधिकतम तापमान में भी गिरावट रिकॉर्ड की गई अधिकतम तापमान रिकॉर्ड किया गया है।

उत्तर प्रदेश के 45 जनपदों में बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है। मानसूनी बारिश के कारण तापमान में गिरावट का दौर जारी है। फिलहाल अभी जमकर बादल नहीं बरस रहे हैं लेकिन कुछ समय के बाद भारी बारिश की भी चेतावनी जारी की गई है। जुलाई के पहले सप्ताह तक भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया। उत्तर प्रदेश में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। 24 घंटे में अधिकतम तापमान बस्ती का रिकॉर्ड किया गया। वहीं जिन 45 जनपद में अलर्ट जारी किया गया है। उसने प्रयागराज, फतेहपुर, प्रतापगढ़, सोनपुर, मिर्जापुर, कानपुर देहात, कानपुर, रायबरेली, सहारनपुर, शामली, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा, हाथरस, बिजनौर, इटावा, मैनपुरी, औरैया, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली पीलीभीत जालौन ललितपुर और आसपास के क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

झारखंड और पश्चिम बंगाल में भी बारिश की गतिविधि

झारखंड और पश्चिम बंगाल में भी बारिश की गतिविधि जारी है। कई क्षेत्रों में भारी बारिश देखने को मिल रही है। वही झारखंड में 22 जून से मानसून के प्रवेश के साथ ही गरज चमक और बारिश का दौर जारी है। रांची में बारिश का सिलसिला जारी है। वहीं 20 से अधिक जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। संताल परगना में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। वहीं 24 घंटे के द्वारा झारखंड के रांची में बारिश रिकॉर्ड की गई है। सिमडेगा में सबसे अधिक मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है। वहीं अगले 48 घंटे में भारी बारिश का पूर्वानुमान मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी के उत्तरी हिस्से सहित बंगाल उड़ीसा के तटवर्ती क्षेत्र में साइक्लोनिक सरकुलेशन झारखंड के दक्षिण क्षेत्र से होते हुए छत्तीसगढ़ मध्य प्रदेश की तरफ बढ़ रहे हैं। ऐसे में संथाल परगना में भारी बारिश का दौर जारी रहने वाला है।

राजस्थान में भारी बारिश की चेतावनी जारी 

राजस्थान में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है 11 जिले में येलो अलर्ट जारी किया गया जबकि 13 जिले में ऑरेंज अलर्ट की चेतावनी जारी कर दी गई है। राजस्थान में सावन की झड़ी लगने वाली है। दरअसल 3 जुलाई से इन क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।। वहीं मानसून के प्रभाव के कारण के साथ आसमान में बादल छाए रहेंगे तापमान में चार से पांच फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। 24 घंटे में नागौर, दौसा सहित गंगानगर, अलवर में बारिश रिकॉर्ड की गई है। इसके अलावा झुंझुनू, सीकर, चित्तौड़गढ़ में भी भारी बारिश देखने को मिली। जानकारी के मुताबिक 24 घंटे में सामान्य से 2 गुना ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई है। अलवर भरतपुर करौली कोटा प्रतापगढ़ सवाई माधोपुर से उदयपुर जोधपुर और पाली में अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम अलर्ट

  • उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, गुजरात क्षेत्र, कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, केरल और माहे में भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है।
  • मध्य प्रदेश और विदर्भ में बहुत भारी बारिश के साथ अलग-अलग स्थानों पर अत्यधिक भारी बारिश होने की संभावना है।
  • अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, गांगेय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, झारखंड, पश्चिम उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, पश्चिम राजस्थान, सौराष्ट्र, कच्छ और अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा संभव है। तटीय कर्नाटक.
  • भारत के शेष भाग में छिटपुट वर्षा के साथ बिजली गिरने की भी संभावना है।
  • अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, गांगेय पश्चिम बंगाल, झारखंड, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, मध्य प्रदेश, मध्य महाराष्ट्र, मराठावाड़ा, विदर्भ, छत्तीसगढ़, तटीय कर्नाटक, केरल, माहे, लक्षद्वीप, गुजरात (क्षेत्र), कोंकण, गोवा में व्यापक बारिश और तूफान आ सकते हैं।
  • 40°C से ऊपर अधिकतम तापमान पश्चिमी राजस्थान के अलग-अलग स्थानों को प्रभावित कर सकता है
  • अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, पश्चिम उत्तर प्रदेश, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, पूर्वी राजस्थान, सौराष्ट्र और कच्छ में काफी व्यापक बारिश और तूफान का अनुमान है।

उत्तराखंड के 15 क्षेत्रों में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट

पर्वतीय राज्य में भी भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया। साथ ही गरज चमक की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग के मुताबिक भारी से अति भारी बारिश, हिमाचल उत्तराखंड के कई क्षेत्रों में देखने को मिल सकती है। उत्तराखंड के 15 क्षेत्रों में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया। वहीं तेज हवा चलने का पूर्वानुमान जताया गया है जबकि हिमाचल प्रदेश में भी तापमान में गिरावट के साथ भारी बारिश की गतिविधि जारी रहने वाली है। 15 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चलेगी। वहीं कई जगहों पर भूस्खलन को लेकर भी अलर्ट जारी किया गया है।

महाराष्ट्र गोवा में ऑरेंज अलर्ट 

महाराष्ट्र गोवा में ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए मौसम विभाग ने लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है। आगामी 10 दिनों तक महाराष्ट्र और गोवा के कई क्षेत्रों में अति भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। वहीं तेज हवा चलने की भी चेतावनी जारी की गई है। वज्रपात की संभावना जताते हुए लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। तापमान में 5 से 7 फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की गई है। वहीं न्यूनतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जा रहा है। इस सप्ताह बारिश की गतिविधि जारी रहने वाली है।

दक्षिणी राज्य में भारी बारिश की चेतावनी

केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, रायलसीमा सहित अंडमान निकोबार दीप समूह में अति भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इन क्षेत्रों में भारी बारिश की संभावना को देखते हुए  ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। वहीं तेज हवा चलने का भी पूर्वानुमान जारी किया गया।तापमान में 5 से 7 फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की गई। हालांकि कर्नाटक की शहरी क्षेत्रों में रुक-रुक कर बारिश की गतिविधि जारी रहेगी। कुछ क्षेत्रों में आसमान में बादल छाए रहेंगे। आद्रता में भी कमी देखने को मिल सकती है जबकि केरल में बारिश की गतिविधि जारी रहने वाली है। मानसूनी बारिश के साथ कुछ दिन तक देखी जा सकती है।

पूर्वी राज्य में भारी बारिश की चेतावनी

पूर्वी राज्यों की बात करें तो असम, मेघालय, मणिपुर, नागालैंड, मिजोरम में अति भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। फिलहाल इस सप्ताह भारी बारिश की गतिविधि जारी रहेगी। न्यूनतम तापमान 22 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जा सकता है। इसके साथ ही चमक और वज्रपात सहित भूस्खलन की चेतावनी जारी करते हुए मौसम विभाग को स्थानीय लोगों को सतर्क करने की सलाह दी गई है, कुछ क्षेत्रों में हल्की बारिश भी देखी जा सकती है। वहीं तापमान में खासी गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी।

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में 24 घंटे में भारी बारिश

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में 24 घंटे में मानसून की दस्तक के साथ ही तेज हवा चलने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। मानसूनी बारिश के साथ अगले 3 दिन तक भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। 30 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। मूसलाधार बारिश की गतिविधि चल रही है। वहीं बारिश से जबलपुर में पुल टूटने की खबर सामने आ रही है जबकि भोपाल में भी बारिश की गतिविधि देखने को मिल रही है तापमान में 7 फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की गई है। मंगलवार बुधवार को बुरहानपुर खंडवा में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

बारिश होने का पूर्वानुमान जताया गया है। भोपाल, विदिशा, जबलपुर, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, उज्जैन, देवास, शाजापुर में भी बारिश जारी रहने वाली है। इसके साथ ही आगर मालवा, अशोक नगर, रीवा, सतना, छतरपुर, टीकमगढ़ में भारी बारिश की संभावना जताई गई ह। 29 जून को आगर में अति भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई जबकि 28 जून को अगर मंदसौर, गुना, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़ में भारी बारिश देखी जाएगी। इसके साथ ही इस पुरे सप्ताह बारिश की गतिविधि जारी रहने वाली ज पी छत्तीसगढ़ के भी 18 जिलों में अति भारी बारिश का पूर्वानुमान जारी किया गया है।

मौसम प्रणाली

  • मॉनसून की उत्तरी सीमा (एनएलएम) गुजरात, हरियाणा और पंजाब के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ गई है।
  • उत्तरी छत्तीसगढ़ के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र (एलपीए) संभवतः पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ेगा, जिससे भारी वर्षा वाले क्षेत्र पश्चिम की ओर स्थानांतरित हो जाएंगे।
  • एक ट्रफ रेखा गुजरात और केरल तटों पर बनी हुई है।
  • ये प्रणालियाँ सामूहिक रूप से अगले कुछ दिनों में दक्षिण-पश्चिम मानसून की प्रगति में सहायता कर सकती हैं।
  • एक पूर्व-पश्चिम ट्रफ रेखा उत्तर-पश्चिमी राजस्थान से लेकर हरियाणा, दक्षिणी उत्तर प्रदेश और झारखंड होते हुए उत्तर-पूर्व बंगाल की खाड़ी तक फैली हुई है।
  • मंगलवार (27 जून) को उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, गुजरात क्षेत्र, छत्तीसगढ़, केरल और माहे के कुछ इलाकों, पूर्वी राजस्थान, कोंकण, मध्य महाराष्ट्र, गोवा में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।
  • गुरुवार और शुक्रवार (29 और 30 जून) को अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय में भी इसी तरह का मौसम संभव है।

About Author
Kashish Trivedi

Kashish Trivedi

Other Latest News