विश्व गरीबी उन्मूलन दिवस, आर्थिक असमानता और शोषण के खिलाफ आवाज़ उठाने का दिन

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। आज विश्व गरीबी उन्मूलन दिवस (International day for Eradication of Poverty) है। हर साल 17अक्टूबर को दुनियाभर में गरीबी कम करने और जीवनमान उच्च करने के उद्देश्य के साथ मनाया जाता है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज के दिन ट्वीट करते हुए कहा है कि ‘गरीबी का उन्मूलन सामूहिक प्रयास व प्रतिबद्धता से ही संभव होगा। अपने आस-पास के गरीबों के जीवन को हम सभी सरल व सुखद बनाने का हरसंभव प्रयास करें। असमर्थों के चेहरों पर मुस्कान का कारण बनें, ऐसे प्रयासों में ही मानव जीवन की सार्थकता निहित है।’

Moto X40 जल्द होगा लॉन्च, मिलेगा तगड़ा प्रोसेसर, पॉकेट फ़्रेंडली होगा स्मार्टफोन, ऐसा होगा कैमरा, जानें

इस साल गरीबी उन्मूलन दिवस की थीम ‘व्यवहार में सबके लिए गरिमा’ (Dignity for all in practice is the umbrella) है। दुनियाभर में गरीबी में जीवन बसर कर रहे लोगों के जीवन स्तर को सुधारने और उन्हें एक गरिमामय जीवन प्रदान करने के उद्देश्य से ये थीम रखी गई है। आज का दिन हमारे देश के लिए एक चेतावनी की तरह भी है क्योंकि विश्व असमानता रिपोर्ट 2022 (World Inequality Report 2022) के मुताबिक भारत में सबसे अधिक असमानता देखी गई है। हमारे देश में 10 फीसदी समृद्द लोगों के पास राष्ट्रीय आय का 57 प्रतिशत है जबकि नीचे की आबादी के पास कुल संपत्ति का 13 प्रतिशत ही है। आय वितरण के हिसाब से ये अत्यथिक असमानता की स्थिति है।

ये दिन शासन तथा निर्णय लेने वाली संस्थाओं के लिए तो महत्वपूर्ण है ही, लेकिन हर उस व्यक्ति को आज कुछ देर ठहरकर सोचना चाहिए जिसके पास संपत्ति और समृद्धि है। समानता का सिद्धांत बेहद महत्वपूर्ण है और हम अपनों से नीचे वालों की मदद कर समाज में समता लाने का कार्य कर सकते हैं। अपने स्तर पर जितना संभव है वो करना आवश्यक है जिससे हम एक स्वस्थ और सुदृढ़ समाज के निर्माण में सहायक हो सकें।