VIDEO: केरल में भारी बारिश से बाढ़, 18 की मौत, कई लापता, सेना ने संभाला मोर्चा, रेड अलर्ट

इसके तहत   मलप्पुरम, अलपुझा, एर्णाकुलम, त्रिशूर, पथनमथिट्टा, पलक्कड़, कोट्टायम, कन्नूर और कोल्लम में एक-एक टीम की तैनाती की जाएगी।

केरल

तिरुवनंतपुरम, डेस्क रिपोर्ट। दक्षिण और मध्य केरल में मानसून का कहर जारी है। कई जिलों में पिछले 24 घंटे से भारी बारिश से बाढ़ के हालात (Kerala Floods 2021) बन गए है और अबतक 18 की मौत हो चुकी है वही कई लापता है।लगातार बिगड़ते हालातों के चलते वायु सेना, थल सेना और नौ सेना की मदद ली गई है। बाढ़ और भूस्खलन की घटनाओं की वजह से तबाही की स्थिति बनी हुई और जन जीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गया है। बारिश के मद्देनजर 6 जिलों में रेड , 6 जिलों में ऑरेंज और 2 जिलो में येलो अलर्ट जारी किया गया हैं, जिससे यह संकेत मिलता है कि राज्य के सभी 14 जिलों में भारी बारिश हो रही है।

VIDEO: केरल में भारी बारिश से बाढ़, 18 की मौत, कई लापता, सेना ने संभाला मोर्चा, रेड अलर्ट

कोट्टयम और इडुक्की जिलों के पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन (landslide) में 22 लोगों के लापता होने की आशंका के बाद राज्य सरकार ने सेना की मदद ली है।  भारी बारिश के बाद, 11 राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF), दो सेना और दो रक्षा सेवा कोर (DSC) टीमों सहित केंद्रीय बलों की टीमों को केरल के दक्षिण और मध्य भागों में तैनात किया गया है।इसके तहत   मलप्पुरम, अलपुझा, एर्णाकुलम, त्रिशूर, पथनमथिट्टा, पलक्कड़, कोट्टायम, कन्नूर और कोल्लम में एक-एक टीम की तैनाती की जाएगी।

केरल

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने 6 जिलों – कोट्टयम, पठानमथिट्टा, त्रिशूर, एर्नाकुलम, इडुक्की और पलक्कड़ में रेड अलर्ट जारी किया है। कोट्टयम और पथनमथिट्टा बारिश (Heavy Rain) से सबसे अधिक प्रभावित है, आसपास के कई बांध भर गए हैं और दबाव को कम करने के लिए कुछ के गेट खोल दिए गए थे। सुरक्षा को देखते हुए पर्यटल स्थल और स्कूलों (School) को बंद कर दिया गया है। 18 अक्टूबर तक सबरीमाला अयप्पा मंदिर (Sabarimala Ayyappa Temple)तक बंद रहेगा और उच्च शिक्षण संस्थान भी अब20 अक्टूबर से शुरू होंगे।

VIDEO: केरल में भारी बारिश से बाढ़, 18 की मौत, कई लापता, सेना ने संभाला मोर्चा, रेड अलर्ट

देर रात मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन (Kerala Chief Minister Pinarayi Vijayan) ने इमर्जेंसी बैठक बुलाई और कहा कि स्थिति गंभीर है, हमने आर्मी, नेवी, एयरफोर्स से मदद मांगी है। प्रभावित जिलों में रिलीफ कैंप लगा दिए गए हैं। बारिश के कारण सबसे अधिक कोट्टायम, इडुक्की, पथानामथित्ता जिले प्रभावित हुए हैं। इन जगहों पर कई गांव और कस्बे बाकी जगहों से कट से गए हैं।24 घंटे का अलर्ट देखा जाना चाहिए और जलस्रोतों के करीब रहने वाले सभी लोगों को बहुत सतर्क रहना होगा और किसी को भी पानी में नहीं जाना चाहिए। पहाड़ी क्षेत्रों या स्थानों पर यात्रा करने से बचना चाहिए, जहां बारिश हो रही है।