6 करोड़ कर्मचारियों को मिलने वाली है बड़ी खुशखबरी, खाते में जल्द आएगी राशि

कर्मचारियों

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश के करोड़ों कर्मचारियों (Employees) के लिए खुशखबरी है। 28 फीसदी महंगाई भत्ते (Dearness Allowance) में बढ़ोत्तरी के बाद केंद्र की मोदी सरकार (Central Government)अब दिवाली से पहले 6 करोड़ से ज्यादा कर्मचारियों को फिर बड़ा तोहफा देने की तैयारी में है।इसके तहत ईपीएफओ द्वारा देश के 6.5 करोड़ लोगों के खातों में ब्याज की रकम डाली जाएगी।इसके लिए ईपीएफओ के केंद्रीय बोर्ड ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी है और निकाय को अब वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) की मंजूरी का इंतजार है।

यह भी पढ़े.. सोशल मीडिया पर वायरल हुआ शशि थरूर का ये शानदार वीडियो, लोगों को भी भाया नया अंदाज

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) अपने 6.5 करोड़ कर्मचारियों को वित्त वर्ष 2020-21 का ब्याज अंशधारकों के खाते में जमा करने की तैयारी में है।इसके लिए ईपीएफओ के केंद्रीय बोर्ड ने ब्याज में बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी है और रिटायरमेंट फंड मैनेजर ने वित्त मंत्रालय की मंजूरी मांगी है। यहां से हरी झंड़ी मिलते ही कर्मचारियों के खाते में राशि ट्रांसफर होना शुरु हो जाएगी।

EPFO के सेंट्रल बोर्ड ने 8.5% ब्याज देने का फैसला किया है। EPFO ने 8.5% ब्याज पर फाइनेंस मिनिस्ट्री की मंजूरी मांगी है। मुमकिन है कि जल्दी ही फाइनेंस मिनिस्ट्री इस पर अपनी मुहर लगा देगा। फिस्कल ईयर 2020-2021 के लिए EPFO को जैसे ही वित्त मंत्रालय से 8.5% ब्याज पर मंजूरी मिलेगी वह कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के खातों में पैसा ट्रांसफर (Money Transfer) कर देगा।

यह भी पढ़े.. MP College: कैबिनेट बैठक में जल्द आएगा यह प्रस्ताव, उच्च शिक्षा विभाग की तैयारियां पूरी

इस साल मार्च में EPFO बोर्ड ने फिस्कल ईयर 2021 के लिए 8.5% ब्याज का प्रस्ताव रखा था। इससे पहले फिस्कल ईयर में EPFO को 70,300 करोड़ रुपए की आमदनी हुई थी। इसमें 4000 करोड़ रुपए इक्विटी निवेश बेचने से हासिल हुआ था।EPFO 8.5% ब्याज दे रहा है जो दूसरी स्मॉल सेविंग्स के मुकाबले ज्यादा है। जनरल प्रोविडेंट फंड (GPF) और पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) पर 7.1% ब्याज मिलता है। जबकि नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट पर 6.8% का ब्याज मिल रहा है।

बता दे कि देश के 6 करोड़ से अधिक कर्मचारी द्वारा अपने वेतन (salary) की एक निश्चित राशि प्रोविडेंट फंड (PF Account) के रूप में जमा कराई जाती है। जिसके एवज में कर्मचारियों को हर साल रिवाइज में ब्याज दरों पर ब्याज दिया जाता है। 2020 में EPFO ने मार्च 2020 में PF ब्याज दर को घटाकर 8.5 फीसदी कर दिया था, जो पिछले सात वर्षों में यह सबसे कम है। वही वित्त वर्ष 2018-19 में ब्याज दर 8.65 फीसदी था, हालांकि वित्त वर्ष 2017-18 में यह महज 8.55 फीसदी ही था, जबकि वित्त वर्ष 2019-20 के लिए यह 8.5 फीसदी है।

इन तरीकों से आसानी से चेक कर सकते है अपना बैलेंस

  • EPFO सब्सक्राइबर 7738299899 नंबर पर मैसेज भेजकर EPF अकाउंट का बैलेंस चेक कर सकते हैं।
  • इसके लिए “EPFOHO UAN ENG” लिखकर दिए गए मोबाइल नंबर पर भेज दें।
  • SMS मिलने पर ईपीएफओ बदले में आपको पीएफ खाते की शेष राशि की जानकारी भेजेगा।
  • EPFO धारक 011-22901406 नंबर पर मिस्ड कॉल देकर बैलेंस चेक कर सकते हैं।
  • इसके लिए ईपीएफओ सब्सक्राइबर का नंबर पीएफ अकाउंट से रजिस्टर्ड और EPFO ​​मेंबर को UAN, KYC डिटेल्स में लिंक होना चाहिए।
  • ईपीएफओ सब्सक्राइबर्स पोर्टल पर खुद को रजिस्टर करने के बाद, अपने यूएएन और पासवर्ड का उपयोग करके https://passbook.epfindia.gov.in/MemberPassBook/Login# पर लॉग इन भी अपनी पासबुक देख सकते हैं।
  • ईपीएफओ सदस्य ‘उमंग’ मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से अपने खाते की शेष राशि और ईपीएफ विवरण देख सकते हैं।
  • इसके लिए कर्मचारी केंद्रित सेवाओं पर जाएं और पासबुक देखें पर क्लिक करें।
  • कर्मचारी भविष्य निधि में अपनी शेष राशि की जांच करने के लिए, आपको यूएएन दर्ज करना होगा और पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजे गए ओटीपी को दर्ज करना होगा।