किसान

यमुनानगर, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ देश में नए कृषि कानूनों (agricultural laws) के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है, वही दूसरी तरफ कैबिनेट मंत्री  मूलचंद शर्मा समेत बीजेपी के विरोध में सड़कों पर उतरे किसानों  की पुलिस (Haryana Police) से झड़प हो गई। इस दौरान किसानों ने पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेड्स पर ट्रैक्टर चढ़ा दिया। इन प्रदर्शनकारियों को काबू करने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

यह भी पढ़े..MP Weather Alert: मप्र में झमाझम के आसार, इन 6 जिलों में भारी बारिश की संभावना

दरअसल, आज रविवार को हरियाणा (Haryana) के यमुनानगर में बीजेपी की जिला स्तरीय बैठक होनी थी और इसमें शामिल होने के लिए कैबिनेट मंत्री (Cabinet Minister) आने वाले थे और उनके आगमन पर पुलिस ने कड़े इंतजाम किए थे इसके पहले ही किसानों ने मोर्चा खोल दिया और बैरियर तोड़कर जमकर विरोध प्रदर्शन करने लगे। ।

नारेबाजी करते हुए किसानों ने नेताओं की गाड़ियां रोकने की कोशिश की। गुस्साए किसानों (Farmers) ने ट्रैक्टर से बैरिकेड तोड़ दिए और कई किसान बैरिकेड के ऊपर चढ़ गए और पुलिस से बहसबाजी करने लगे। इस दौरान कई जगहों पर पुलिसकर्मियों और किसानों के बीच झड़प भी हुई।हालांकि किसानों ने पहले से ही ऐलान कर दिया था कि वह यहां BJP की बैठक नहीं होने देंगे।

यह भी पढ़े..MPPSC Calendar 2021: नवंबर में होगी मुख्य परीक्षा 2020, यहां देखें पूरा एग्जाम शेड्यूल

वही किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि भारत सरकार बातचीत करना चाहती है तो हम तैयार हैं। 22 तारीख से हमारा दिल्ली जाने का कार्यक्रम रहेगा।22 जुलाई से संसद सत्र शुरू होगा।22 जुलाई से हमारे 200 लोग संसद के पास धरना देने जाएंगे।