असम दौरे में दिखे प्रियंका गांधी के कई रंग, बागान में तोड़ी चाय की पत्तियां, मंदिर में दर्शन किए

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। असम (Assam) दौरे के दूसरे दिन कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) एक अलग अंदाज में दिखीं। तेजपुर में एक बड़ी आमसभा से पहले प्रियंका चाय बागान (tea garden) पहुंचीं और यहां महिला मजदूरों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होने मजदूरों की तरह की पारंपरिक तौर से माथे पर टोकरी टांगकर चाय की पत्तियां भी तोड़ी।

असम दौरे में दिखे प्रियंका गांधी के कई रंग, बागान में तोड़ी चाय की पत्तियां, मंदिर में दर्शन किए

बता दें कि प्रियंका गांधी ने यहां चुनाव प्रचार के लिए पहुंची हैं और इसी दौरान उन्होने तेजपुर में सधरु चाय एस्टेट पहुंचकर महिला मजदूरों के साथ बातचीत की। उन्होने इन महिलाओं का हाल जाना और उनके काम के बारे में भी जानकारी ली। प्रियंका गांधी ने इस दौरान चाय की पत्तियां भी तोड़ी, और इस मौके पर मजदूर उन्हें बताते रहे कि किस तरह से पत्तियां तोड़ी जाती हैं और टोकरी में डाली जाती है।

असम दौरे में दिखे प्रियंका गांधी के कई रंग, बागान में तोड़ी चाय की पत्तियां, मंदिर में दर्शन किए

प्रियंका ने यहां काम करने वाले मजदूरों के साथ बैठकर उनके काम, दिनचर्या और मजदूरी के बारे में भी जानकारी ली। इस दौरान में महिलाओं के साथ काफी घुल मिलकर बात करती दिखीं। इतना ही नहीं, प्रियंका ने मजदूरों के बच्चों को दुलार भी किया और एक मजदूर के घर भोजन भी किया।

असम दौरे में दिखे प्रियंका गांधी के कई रंग, बागान में तोड़ी चाय की पत्तियां, मंदिर में दर्शन किए

प्रियंका गांधी तेजपुर स्थित महाभैरव मंदिर भी पहुंचीं और यहां उन्होने भगवान शिवशंकर के दर्शन किये। इस दौरान उन्होने असम की समृद्धि और खुशहाली की प्रार्थना की।

असम दौरे में दिखे प्रियंका गांधी के कई रंग, बागान में तोड़ी चाय की पत्तियां, मंदिर में दर्शन किए

इसके बाद जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होने कहा कि यह मिट्टी है जिसने आपको अपना अस्तित्व दिया है। असम की धरती आपकी मां है, इस धरती मां की जय, इसके हरेभरे बागानों की जय, बागानों में काम करने वाले साले श्रमिकों की जय। इस प्रदेश की नदियां, जाति, जनजाति, और संस्कृति की जय। प्रियंका ने कहा कि भाजपा के नेता असम के अस्तित्व पर वार कर रहे हैं। वे समझ नहीं पाए हैं कि आपकी इस मिट्टी ने आपको क्या दिया है।