राष्ट्रीय लोक दल के प्रमुख अजीत सिंह का निधन, कोरोना संक्रमित होने के बाद चल रहा था इलाज

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। राष्ट्रीय लोक दल के (RLD) प्रमुख अजीत सिंह (Ajit Singh) का गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वे कोरोना (corona) से संक्रमित थे और गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था।

शिवपुरी में कोरोना कर्फ्यू का जायजा लेने शहर भ्रमण पर निकले कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक

राष्ट्रीय लोक दल के प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री अजीत सिंह का निधन हो गया। वे 86 वर्ष के थे। वे पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पुत्र थे और एनडीए सरकार में कृषि मंत्री और यूपीए सरकार में नागरिक उड्डयन मंत्री रह चुके थे। बागपत उनका लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र था। अजीत सिंह ने बीएससीर बीटेक और स्नातकोत्तर उपाधि हासिल की थी और 17 वर्षों तक अमेरिका की कंप्यूटर इंडस्ट्री में भी काम किया था। 1980 में लोकदल को पुनर्जीवित करने के लिए वे भारत वापस आ गए थे। उनके एक पुत्र और दो पुत्रियां हैं उनके पुत्र जयंत चौधरी 15वीं लोकसभा के सदस्य थे। मंगलवार की रात अजीत सिंह की हालत बेहद बिगड़ गई थी। उनके फेफड़ों में संक्रमण बढ़ने के कारण हालत बहुत नाजुक हो गई थी। तमाम प्रयासों के बाद भी उनको नहीं बचाया जा सका।

हाल ही में उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में समाजवादी पार्टी के साथ उन्होंने गठबंधन किया था और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बीजेपी को कांटे की टक्कर दी थी। बागपत, मेरठ, शामली से लेकर अलीगढ़ और मथुरा तक में राष्ट्रीय लोक दल को काफी बढ़त व जीत मिली थी। अन्य जिलों में भी सपा के साथ मिलकर उन्होंने जीत हासिल की थी। जीत का जश्न मनाने से पहले ही अजित सिंह का जाना कार्यकर्ताओं के लिए दुख का कारण बन गया है।