इन कर्मचारियों को राज्य सरकार का तोहफा, न्यूनतम वेतन बढ़ाया, नई दरें 1 अप्रैल से होंगी लागू

स्नातक और इससे अधिक शैक्षणिक योग्यता वाले मजदूरों का मासिक वेतन 21184 से बढ़ाकर 21756 रुपये कर दिया गया है।

Minimum Wages

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट।Minimum Wages Hike:  दिल्ली के केजरीवाल सरकार ने राज्य के मजदूरों को बड़ी सौगात दी है।दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने अकुश, अर्धकुशल और अन्य श्रमिकों के न्यूनतम वेतन में बढ़ोतरी की है । इसका लाभ लिपिक और सुपरवाइजर वर्ग के कर्मचारियों को भी मिलेगा। न्यूनतम वेतन की नई दरें 1 अप्रैल से लागू की गई हैं।

यह भी पढ़े.. Road Accident: हाइवा-ऑटो की टक्कर, पूर्व सांसद के भतीजे समेत 4 की मौत, वाहन के उड़े परखच्चे

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि गरीब और मजदूर वर्ग के हितों को ध्यान में रखते हुए बढ़ती महंगाई के बीच यह बड़ा कदम उठाया गया है। इसका लाभ लिपिक और सुपरवाइजर वर्ग के कर्मचारियों को भी मिलेगा। असंगठित क्षेत्र के ऐसे श्रमिकों को महंगाई भत्ते पर रोक नहीं लगाई जा सकती है, जिन्हें सामान्यत: केवल न्यूनतम मजदूरी मिलती है, इसलिए दिल्ली सरकार ने महंगाई भत्ते जोड़कर नया न्यूनतम वेतन की घोषणा की है।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में मजदूरों को मिलने वाला न्यूनतम वेतन देश के अन्य किसी भी राज्य की तुलना में सबसे अधिक है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार दिल्ली के सभी श्रमिकों को राहत देने के लिए हर 6 महीने में लगातार महंगाई भत्ते को बढ़ाती है।

जानें किसकी कितनी बढ़ी सैलरी

  • अकुशल मजदूरों के मासिक वेतन को 16064 रुपये से बढ़ाकर 16506 रुपये।
  • अर्ध कुशल श्रमिकों के मासिक वेतन को 17693 रुपये बढ़ाकर 18187 रुपये।
  • कुशल श्रमिकों के मासिक वेतन को 19473 रुपये से बढ़ाकर 20019 रुपए।
  • गैर मैट्रिक कर्मचारियों का मासिक वेतन 17693 से बढ़ाकर 18187 रुपये।
  • मैट्रिक लेकिन गैर स्नातक कर्मचारियों का मासिक वेतन 19473 से बढ़ाकर 20019 रुपये ।
  • स्नातक और इससे अधिक शैक्षणिक योग्यता वाले मजदूरों का मासिक वेतन 21184 से बढ़ाकर 21756 रुपये कर दिया गया है।