Chandra Grahan 2023 : इस दिन लगेगा साल का दूसरा चन्द्र ग्रहण, नोट कर लें डेट-टाइम, पढ़े सूतक काल मान्य होगा या नहीं, राशियों पर पड़ेगा असर?

lunar Eclipse

Chandra Grahan 2023 : साल का दूसरा और अंतिम चंद्र ग्रहण अक्टूबर में लगेगा। रविवार को लगेगा। यह चंद्र ग्रहण बेहद खास रहेगा क्योंकि यह पूरे साल में लगने वाले सभी ग्रहणों में एक मात्र ऐसा ग्रहण होगा, जो भारत में दिखाई देगा और इसका सूतक काल भी मान्य होगा। चुंकी चंद्र ग्रहण का सूतक 9 घंटे पहले शुरू हो जाता है,  जो 28 अक्टूबर को दोपहर 02 बजकर 52 मिनट से शुरू हो जाएगा, ऐसे में चंद्र ग्रहण के सूतक काल के दौरान पूजा-पाठ समेत सभी शुभ कार्य वर्जित होंगे। मंदिरों के पट बंद कर दिए जाएंगे ।

कब लगेगा साल का दूसरा चन्द्र ग्रहण

पंचांग के अनुसार, इस साल का दूसरा चंद्र ग्रहण 29 अक्टूबर 2023 दिन रविवार को लगेगा। यह ग्रहण का समय 01.06 बजे शुरू होगा और 02.22 बजे समाप्त होगा। स्थानीय ग्रहण की अवधि एक घंटे सोलह मिनट और सोलह सेकंड तक रहेगी। भारत में इस चंद्र ग्रहण की कुल अवधि 1 घंटे 16 मिनट की होगी ।  8 नवंबर 2022 के पूर्ण चंद्र ग्रहण के बाद अब अगला पूर्ण चंद्र ग्रहण जो भारत में दिखाई देगा, वह 7 सितंबर 2025 को होगा।

इन राशियों को रहना होगा सतर्क

ज्योतिष के अनुसार, यह एक खण्डग्रास चंद्र ग्रहण होगा, जो भारत में दिखाई देगा।इसके समाप्‍त होने के बाद स्‍नान कर भगवान को स्‍पर्श करें। यह चन्द्र ग्रहण इसलिए भी खास है क्योंकि अक्टूबर में राहु केतु भी अपनी चाल बदलेंगे, जिसका कई राशियों पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।मेष मिथुन धनु और मकर राशि वालों को सावधान रहने की जरूरत है। चंद्रग्रहण के दौरान अश्विनी नक्षत्र में जन्मे और मेष राशि वालों को संभलकर रहना होगा।

क्या होता है चन्द्र ग्रहण

  1. चंद्र ग्रहण के दौरान सूर्य की परिक्रमा के दौरान पृथ्वी, चांद और सूर्य के बीच आ जाती है। इस दौरान चांद धरती की छाया से पूरी तरह से छुप जाता है।
  2. पूर्ण चंद्र ग्रहण के दौरान सूर्य, पृथ्वी और चंद्रमा एक दूसरे के बिल्कुल सीध में होते हैं। इस दौरान जब हम धरती से चांद देखते हैं तो वह हमें काला नजर आता है और इसे चंद्रग्रहण कहा जाता है।

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है, MP BREAKING NEWS किसी भी तरह की मान्यता-जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल लाने से पहले अपने ज्योतिषाचार्य या पंडित से संपर्क करें)


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News