Masik Durgashtami: धन, वैभव और बुद्धि प्राप्त करें, मासिक दुर्गाष्टमी पर मां दुर्गा को इन चीजों का लगाएं भोग

Masik Durgashtami: मां दुर्गा को अनेक प्रकार के भोग प्रिय हैं, लेकिन कुछ भोग ऐसे हैं जो मासिक दुर्गाष्टमी पर विशेष रूप से महत्वपूर्ण माने जाते हैं। इन भोगों को लगाने से मां दुर्गा प्रसन्न होती हैं और भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करती हैं। आइए जानते हैं मासिक दुर्गाष्टमी पर मां दुर्गा को लगाए जाने वाले 4 खास भोगों के बारे में।

भावना चौबे
Published on -
masik durgashtmi

Masik Durgashtami: हिंदू धर्म में शक्ति की प्रतीक मां दुर्गा की पूजा का विशेष महत्व है। हर महीने शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाई जाने वाली मासिक दुर्गाष्टमी के व्रत और पूजा-अर्चना से माता रानी प्रसन्न होती हैं और भक्तों को उनका आशीर्वाद प्राप्त होता है। इस ज्येष्ठ माह में मासिक दुर्गाष्टमी 14 जून को पड़ रही है। आइए जानते हैं इस विशेष दिन मां दुर्गा को कैसे प्रसन्न किया जा सकता है। इस दिन विधि-विधान से पूजा-अर्चना करने और माता रानी को भोग लगाने से उनकी कृपा प्राप्त होती है। भोग में अनेक व्यंजन शामिल किए जा सकते हैं।

मासिक दुर्गाष्टमी पर लगाएं ये 4 खास भोग

खीर

मासिक दुर्गाष्टमी पर खीर का भोग बेहद खास माना जाता है। दूध, चावल और चीनी से बनने वाली ये स्वादिष्ट मिठाई मां दुर्गा को बहुत प्रिय है। शास्त्रों में भी खीर को उनका प्रसाद बताया गया है। आप भी इस शुभ दिन पर विधि-विधान से पूजा कर मां दुर्गा को खीर का भोग लगाएं और उनका आशीर्वाद प्राप्त करें।

दूध से बनी मिठाइयां

मां दुर्गा को मीठा बहुत पसंद है, खासकर दूध से बनी मिठाइयां। रसगुल्ला, खीर, लड्डू – आप उन्हें कोई भी दूध वाली मिठाई का भोग लगा सकते हैं। दूध को धन-दौलत का प्रतीक माना जाता है, इसलिए मान्यता है कि दुर्गाष्टमी पर दूध की मिठाई का भोग लगाने से मां दुर्गा प्रसन्न होकर धन-धान्य का आशीर्वाद देती हैं, तो इस बार मासिक दुर्गाष्टमी पर मीठी दुर्गा रानी को दूध की मिठाई का भोग जरूर चढ़ाएं।

केला

मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए सिर्फ मिठाई ही नहीं, फल भी चढ़ाएं। केला मां दुर्गा को बहुत पसंद है। शास्त्रों में भी केले को उनका प्रसाद बताया गया है। केला न सिर्फ स्वादिष्ट और पौष्टिक होता है, बल्कि ये बुद्धि का भी प्रतीक माना जाता है मान्यता है कि मासिक दुर्गाष्टमी पर मां दुर्गा को केले का भोग लगाने से उनकी कृपा से बुद्धि का विकास होता है और मनचाहा करियर बनाने में सफलता मिलती है, तो इस बार दुर्गाष्टमी पर मां दुर्गा को केले का भोग जरूर चढ़ाएं।

पंचामृत

मासिक दुर्गाष्टमी पर सिर्फ मिठाई या फल ही नहीं चढ़ाएं, बल्कि पंचामृत और शक्कर का भोग भी लगाएं। दूध, दही, शहद, घी और गंगाजल से बना पंचामृत पवित्रता और आरोग्य का प्रतीक माना जाता है। वहीं, शक्कर भी शुभता का सूचक है। मान्यता है कि मां दुर्गा को पंचामृत और शक्कर का भोग चढ़ाने से वे प्रसन्न होती हैं और दीर्घायु का आशीर्वाद देती हैं, तो इस बार दुर्गाष्टमी पर मां दुर्गा को पंचामृत और शक्कर का भोग जरूर लगाएं।

(Disclaimer- यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं के आधार पर बताई गई है। MP Breaking News इसकी पुष्टि नहीं करता।)


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News