ICC ने टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर और प्लेयर ऑफ द ईयर का किया ऐलान, इन खिलाड़ियों ने मारी बाजी

इंटरनेशन क्रिकेट काउंसिल द्वारा टेस्ट क्रिकेट ऑफ द ईयर के लिए उस्मान ख्वाजा और प्लेयर ऑफ द ईयर के लिए ऑस्ट्रेलिया के कप्तान पैट कमिंस को चुना है।

Shashank Baranwal
Published on -
ICC

ICC Player of The Year: इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) द्वारा साल 2023 के लिए बेस्ट खिलाड़ियों को अवार्ड देने के लिए नामों का ऐलान कर दिया है। बता दें ICC की तरफ से T20 प्लेयर ऑफ द ईयर 2023 अवार्ड के लिए सूर्यकुमार यादव को और वनडे प्लेयर ऑफ द ईयर 2023 अवार्ड के लिए विराट कोहली को चुना है। इसी बीच टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर 2023 के नाम का ऐला कर दिया है। साथ ही प्लेयर ऑफ द ईयर 2023 के खिलाड़ी का भी ऐलान कर दिया है। आइए जानते हैं कि ये दोनों अवार्ड किस खिलाड़ी को दिया गया है।

ये खिलाड़ी बना टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर 2023

ICC की तरफ से टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर अवार्ड के लिए ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा को चुना गया। साल 2023 उनके लिए काफी बेहतर रहा है। उन्होंने 2023 में कुल 13 टेस्ट मैच खेले। जिसमें कुल 1210 रन बनाए। वहीं ऑस्ट्रेलिया को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप जिताने में अहम किरदार निभाया था। आपको बता दें उस्मान ख्वाजा ने साल 2023 की सबसे बड़ी पारी साउथ अफ्रीका के खिलाफ 195 रनों की खेली।

इस खिलाड़ी को चुना गया प्लेयर ऑफ द ईयर 2023

ICC ने प्लेयर ऑफ द ईयर 2023 के लिए ऑस्ट्रेलिया के कप्तान पैट कमिंस को चुना है। बता दें साल 2023 पैट के कमिंस के लिए काफी बेहतरीन साल रहा है। इस साल पैट कमिंस की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया, वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप और विश्व कप दोनों को अपने नाम करने में सफल रही है। पैट कमिंस ने साल 2023 में कुल 24 मैच खेले। इस दौरान उन्होंने कुल 58 विकेट झटके और 422 रनों की पारी खेली।


About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है– खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो मैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।

Other Latest News