Tokyo Olympics : पहलवान रवि दहिया ने देश को दिलाया दूसरा सिल्वर मेडल

दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। टोक्यो ओलंपिक में गुरुवार 5 अगस्त को पुरुषों के फ्री स्टाइल 57 किलो रेसलिंग स्पर्धा के फाइनल में रेसलर रवि दहिया को रूस के खिलाड़ी जवुर उगुवेय से 4-7  हार का सामना करना पड़ा है। अपने शानदार प्रदर्शन से इस मुकाम तक पहुँचे रवि सिल्वर मेडल अपने नाम करने में सफल हो गए हैं। रवि ओलंपिक के इतिहास में मेडल जीतने वाले पांचवें रेसलर बन गए हैं। अभी तक भारतीय रेसलिंग में किसी ने गोल्ड मेडल नहीं जीता है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने फोन करके कप्तान मनप्रीत और पूरी हॉकी टीम को दी बधाई

 

फाइनल मुक़ाबले में जवुर उगुवेय ने अच्छी शुरुआत करते हुए 2-0 की बढ़त बनाई। इसके बाद रवि दहिया ने वापसी करते हुए स्कोर 2-2 से बराबर कर दिया। जावुर ने फिर वापसी की और दो अंक बनाते हुए 4-2 की बढ़त बना ली। पहले तीन मिनट तक स्कोर यही रहा। इसके बाद स्काेर 7-2, 7-4 से जवुर के पक्ष में ही रहा। जवुर उगुवेय ने 2018 और 2019 वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था।

रवि दहिया कुश्ती में ओलंपिक मेडल जीतने वाले पांचवें भारतीय बने। सुशील कुमार ने 2008 बीजिंग ओलंपिक में ब्रॉन्ज जबकि 2012 लंदन ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीता था। वे 2016 ओलंपिक के लिए क्वालिफाई नहीं कर सके थे। योगेश्वर दत्त ने 2012 में ब्रॉन्ज और महिला पहलवान साक्षी मलिक ने 2016 रियो में ब्रॉन्ज पर कब्जा किया था। इससे पहले के डी जाधव ने 1952 हेलसिंकी ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। वे ओलंपिक में मेडल जीतने वाले पहले भारतीय पहलवान थे।