Datia : बिना मास्क लगाए चालान काट रही थी गोराघाट पुलिस, वीडियो हुआ वायरल

पुलिस वाले ने चेकिंग के दौरान मास्क नहीं लगाया था। तभी वहां एडवोकेट प्रीतम सिंह रावत चार पहिया वाहन से गुजरे उन्हें पुलिस द्वारा रोक लिया गया जिसके बाद एडवोकेट और पुलिस के बीच तू तू मैं मैं हो गई।

viral video

दतिया, सत्येन्द्र रावत। देशभक्ति जनसेवा का भाव लेकर जब पुलिस आमजन को कानून का पाठ पढ़ाती है तो पहले खुद को भी नियमों पालन करना होता है। वहीं जब स्वयं पुलिस ही कानून के नियमों का उल्लंघन करें तो सवाल तो खड़े होंगे ही। ऐसा ही मामला गोराघाट पुलिस का सामने आया है, दतिया (Datia) के गोराघाट से। जहां पुलिस के एएसआई (ASI) सुनील शर्मा व अम्बिका नन्द शर्मा जब कोरोना नियमों (corona rules) का पालन कराने के लिए दल-बल के साथ सड़कों पर उतरे तो मामला उल्टा पड़ गया।

Read also…इंदौर गोलीकांड आरोपियों को कोर्ट में किया पेश, 28 तक पुलिस रिमांड पर

दरअसल गोराघाट पुलिस इंदरगढ़ रोड स्थित खजूरी तिराहे पर चेकिंग कर रही थी। जहां सहायक उपनिरीक्षक सुनील शर्मा व अम्बिका नन्द शर्मा आरक्षक राजकुमार शाक्य व सैनिक राममिलन एवं रामनरेश के साथ कोरोना की गाइडलाइन का पालन कराने के लिए लोगों के चालान काट रहे थे। लेकिन किसी भी पुलिस वाले ने चेकिंग के दौरान मास्क नहीं लगाया था। तभी वहां एडवोकेट प्रीतम सिंह रावत चार पहिया वाहन से गुजरे उन्हें पुलिस द्वारा रोक लिया गया और चालान काटने की बात करने लगे जब एडवोकेट प्रीतम सिंह रावत ने कारण पूछा तो पुलिसवालों का कहना था कि आपने मास्क नहीं लगाया है। जिसके बाद एडवोकेट प्रीतम ने घटना का वीडियो बनाते हुए पुलिस पर सवाल खड़े किए और कहा कि पुलिस भी बिना मास्क लगाएं खड़ी हुई है, आप लोगों के भी चालान कटने चाहिए।

वीडियो में देखा जा सकता है कि एडवोकेट प्रीतम यह एएसआई सुनील शर्मा से मास्क नहीं लगाने पर सवाल पूछ रहे हैं। जिसके बाद एएसआई सुनील शर्मा ने अपनी जेब से मास्क निकाला और मुंह पर लगा लिया। वहीं जब एडवोकेट द्वारा यह कहा गया कि जिन पुलिसकर्मियों ने मास्क नहीं लगाया है उनका भी सो ₹100 का चालान काटा जाए जिस पर एसआई द्वारा टालमटोल किया गया। वहीं एडवोकेट ने जब पुलिस से शराब पीकर चालान काटने की बात कही तो इस पर एएसआई सुनील शर्मा ने जवाब दिया कि हां मैंने शराब पी है अभी चलकर मेडिकल करवाते हैं। इस दौरान गहमागहमी के बीच पुलिस वालों ने वकील के साथ गाली गलौज व अभद्रता कर दी, साथ ही गिरेवान पकड़कर गाड़ी से खींचने की कोशिश की। हालांकि जब एडवोकेट रावत से चालान कटवाने की बात कही तो उन्होंने अपनी गलती मानते हुए चालान कटवाने के लिये राजी हो गये और उनका पुलिस ने बिना सीट बेल्ट लगाने के मामले में ₹500 का चालान काट दिया।

अब सवाल यह आता है कि जब पुलिस ही नियमों उल्लंघन करें तो आम इंसान को कैसे रोका जा सकता है। लेकिन क्या इन पुलिस अधिकारियों पर वरिष्ठ अधिकारी संज्ञान लेंगे? एडवोकेट रावत ने दल प्रभारी पर शराब पीकर ड्यूटी करने का आरोप भी लगाया है जिसका वीडियो एडवोकेट प्रीतम रावत द्वारा बनाया गया है जिसमें एएसआई शराब पीने की बात स्वीकार करते नजर आ रहे हैं। साथ ही वाहन चालको से बिना रसीद काटे अवैध वसूली का आरोप पुलिस दल पर लगाया। एडवोकेट रावत ने उक्त पुलिस कर्मियों की शिकायत पुलिस अधीक्षक दतिया व गृह मंत्री से की है।

Read also…Bhind : तालाब में नहा रहे 2 बच्चों की डूबने से मौत !