Breaking News
अब मंत्री-परिषद के सदस्य उतरेंगें सड़कों पर, जनता को समझाएंगे 'सड़क सुरक्षा' के नियम | 28 सितंबर को फिर भारत बंद का ऐलान, इसके पीछे ये है वजह | 12वीं पास के लिए सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका, जल्द करें अप्लाई | शर्मनाक : युवक की हत्या के शक में महिला को निर्वस्त्र कर घुमाया, पथराव-आगजनी, 8 पुलिसकर्मी सस्पेंड | शिवराज कैबिनेट की बैठक खत्म, इन अहम प्रस्तावों को मिली मंजूरी | मॉर्निंग वॉक के दौरान EOW इंस्पेक्टर की मौत, हार्ट अटैक की आशंका | अखिलेश की नजर अब मप्र पर, 3 सितंबर को आएंगें इंदौर | अटल जी के निधन पर पूरे देश में शोक और भाजपा नेता निकाल रहे डीजे यात्रा : कांग्रेस | VIDEO : मोबाईल टॉवर पर चढ़ा शराबी, मचा रहा हंगामा, नीचे उतारने में जुटी पुलिस | चुनावी साल में शिवराज सरकार का मास्टर स्ट्रोक, कुपोषण मिटाने खर्च करेगी 57 हजार करोड़ |

टिकट-बंटवारे को लेकर कांग्रेस में घमासान, बावरिया के सामने फिर आपस में भिड़े कार्यकर्ता

देवास।

मध्य प्रदेश कांग्रेस में गुटबाजी खत्म होने का नाम नहीं ले रही है।आए दिन कांग्रेस कार्यकर्ताओं की अनुशासनहीनता और अभद्रता की मामले सामने आ रहे है। बीते दिनों ही प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया के सामने विदिशा और रीवा में कार्यकर्ताओं में झूमाझटकी और गाली-गलौच का मामला सामने आया था।ऐसे में एक बार फिर देवास में बाबरिया के सामने कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए और झूमाझटकी करने लगे।

दरअसल, शुक्रवार को कांग्रेस प्रभारी दीपक बाबरिया पांचों विधानसभाओं के पदाधिकारियों से मिलने देवास पहुंचे।यहां बावरिया जैसे ही  मंच पर पहुंचे वैसे ही दावेदार मनोज चौधरी के समर्थक मंच की ओर बढ़ते हुए नारे लगाने लगे। चौधरी उन्हें रोक रहे थे तभी अन्य नेता के समर्थक से विवाद हो गया अौर झूमाझटकी स्थिति बन गई।  जैसे-तैसे करके विवाद शांत कराया गया। इस दौरान कार्यकर्ताओ के बीच जमकर अनुशासनहीनता देखी गई। हैरानी की बात ये है कि किसी ने इस पूरे वाक्ये का वीडियो बना सोशल मीडिया पर डाल दिया। अब ये वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। अंत में प्रदेश प्रभारी ने विधानसभाक्षेत्रवार कार्यकर्ताओं से बंद कमरे में चर्चा के लिए चले गए।इसके बाद विधानसभाक्षेत्रवार बंद हाॅल में वन-टू-वन नेताओं एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चर्चा की। उन नेताओं से अलग से चर्चा की जो टिकट के लिए दावेदारी जता रहे हैं। वही देर शाम को सोनकच्छ विधानसभाक्षेत्र से एक अन्य की दावेदारी को लेकर भी सज्जन वर्मा समर्थकों का टकराव हो गया। सोनकच्छ सज्जन वर्मा की परंपरागत सीट है। 

गौरतलब है कि इससे पहले भी रीवी और विदिशा में इस तरह की मामले सामने आ चुके है।इस दौरान भी प्रदेश प्रभारी के सामने   धक्का मुक्का की घटनाएं सामने आई थी।इसको लेकर पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी नाराजगी जाहिर की थी और पांच लोगों को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया था। इसके बावजूद शुक्रवार को वही वाक्या दोहराया गया।यह एक महिने के अंदर तीसरी घटना है । टिकटों को लेकर नेताओं कार्यकर्ताओं में जमकर घमासान मचा हुआ है, जिसके चलते बार बार विवाद की स्थिति पनप रही है।
भले ही मध्य प्रदेश में गुटबाजी में बिखरी प्रदेश कांग्रेस को एक सूत्र में बांधने का जिम्मा उठाए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस समन्वय समिति के अध्यक्ष दिग्विजय सिंह प्रदेशभर में दौर कर रहे है।लेकिन इसका असर भी बेअसर होता दिखाई दे रहा है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...