ममता सरकार ने शिवराज के हेलीकॉप्टर को नहीं दी लैंडिंग की अनुमति

नई दिल्ली/भोपाल। इन दिनों सीबीआई और बंगाल पुलिस के बीच जमकर महायुद्ध छिड़ा हुआ है। इसको लेकर केन्द्र की मोदी सरकार और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी आमने-सामने हो गए है। ममता बनर्जी सरकार और बीजेपी के बीच मतभेद और अधिक बढ़ते दिख रहे हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बाद अब मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के हेलीकॉप्टर को भी उतरने और रैली करने की इजाजत नहीं दी गई है।  

दरअसल, आज मंगलवार को मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान की पश्चिम बंगाल के बरहामपुर में रैली होना था।इसके लिए भाजपा ने उनसे अनुमति मांगी थी, लेकिन ममता सरकार ने उनके हेलीकॉप्टर को लैंडिंग की अनुमति नहीं दी । यह जानकारी खुद शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर दी है। उन्होंने ट्वीटर पर एक वीडियो शेयर कर कहा है कि वंदेमातरम् की धरती को यह क्या हो गया! क्यों यहां लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा है। सभा करने की अनुमति नहीं दी जा रही है, जबकि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता सामान्य व्यक्ति को भी हमारा संविधान देता है। सुश्री ममता बैनर्जी चाहे जितनी कोशिश कर लें, बंगाल में जीत लोकतंत्र की होगी। 

बता दे कि इससे पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की सभा में बाधा पैदा की गई थी। फिर उप्र के मुख्यमंत्री योगी का हेलीकॉप्टर नहीं उतरने दिया ।हालांकि उन्होंने फोन पर ही सभा को संबोधित कर दिया था। इसके बाद आज शिवराज की रैली को अनुमति नही दी गई। साथ ही नेताओं से मिलने के लिए भी रोका जा रहा है। anumati नहीं दिए जाने को लेकर शिवराज ने कहा कि मेरी बेरहामपुर में रैली है, लेकिन मुझे सूचित किया गया है कि मेरे हेलिकॉप्टर के उतरने और रैली स्थल की अनुमति नहीं दी गई है। उन्होंने कहा, संविधान सभी राजनीतिक दलों को जनता के सामने अपना पक्ष प्रस्तुत करने की अनुमति देता है। ममता जी किससे डरती हैं? मेरी कल बेरहामपुर में एक रैली है, लेकिन मुझे सूचित किया गया है कि मेरे हेलिकॉप्टर के उतरने और रैली स्थल की अनुमति नहीं दी गई है।

गौरतलब है कि पुलिस और सीबीआई के बीच विवाद के बाद बंगाल की सीएम ममता सीबीआई के खिलाफ तीन दिन से धरने पर बैठीं हुई हैं। पुलिस और सीबीआई के बवाल के बाद सुप्रीम कोर्ट ने शारदा चिटफंड घोटाले में पूछताछ के लिए कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होने का आदेश दिया है। शीर्ष अदालत ने साथ ही यह साफ किया राजीव की फिलहाल गिरफ्तारी नहीं होगी।कोर्ट ने राजीव को बंगाल से बाहर शिलॉन्ग में सीबीआई के सामने पेश होने को कहा है। वहीं बंगाल में चल रहा घटनाक्रम ने देश की सियासत में उबाल ला दिया है| 


"To get the latest news update download the app"