पोस्टरों में 'रामभक्त' के बाद 'नर्मदाभक्त' बने राहुल

जबलपुर।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस सत्ता वापसी के लिए चुनावी तैयारियों में जुटी हुई है, प्रदेश के सभी दिग्गज नेता जहां अलग अलग दौरे कर रहे है, वहीं कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष एक बार फिर मध्य प्रदेश के दौरे पर आ रहे हैं और प्रदेश में उन्हें  धार्मिक शख्सियत के तौर पर प्रमोट किया जा रहा है। कांग्रेस कार्यकर्ता उन्हें कभी शिवभक्त, तो कभी रामभक्त और अब नर्मदा भक्त के रूप में प्रचारित कर रहे हैं। कार्यकर्ताओं द्वारा शहरभर में पोस्टर -होर्डिग्स लगवाए गए हैं, जिनमें  राहुल गांधी को नर्मदा भक्त बताया गया है।पोस्टरों को लेकर एक बार फिर सियासत गर्मा गई है।वही भाजपा नेता राहुल के नर्मदा भक्त के पोस्टरों को लेकर जमकर चुटकी ले रहे है।

दरअसल, भोपाल में शिवभक्त, चित्रकूट में रामभक्त के बाद जबलपुर में 6 अक्टूबर को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी नर्मदा भक्त के रूप में नजर आएंगे।  राहुल गांधी सबसे पहले नर्मदा घाट पहुंचेंगे, जहां नर्मदा का पूजन करने के बाद कन्याओं और साधुओं की भी पूजा करेंगे। इसके बाद वह अपने रोड शो की शुरुआत करेंगे।इसी के चलते यहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राहुल के स्वागत में होर्डिग्स और पोस्टर लगाए हैं। इनमें से कुछ में राहुल को नर्मदा भक्त बताया गया है।  6 अक्टूबर को जबलपुर में प्रस्तावित रोड शो में राहुल गांधी जबलपुर शहर की तीन विधानसभा क्षेत्रों को कवर करेंगे। रोड शो नर्मदा धाम के ग्वारीघाट से शुरू होकर रामपुर चौक होते हुए, आधारताल, अब्दुल हमीद चौक पर समाप्त होगा। रोड शो के अलावा राहुल गांधी गैर राजनीतिक सम्मेलन में शहर के प्रबुद्ध वर्ग से भी मिलेंगे। इसमें शहर के जाने-माने चिकित्सक, समाज सेवी, उद्योगपति और व्यापारियों को आमंत्रित किया गया है। 

राहुल गांधी की इस भक्ति-गाथा को सियासी जानकार प्रदेश में अगले कुछ महीनों में होने वाले विधानसभा चुनाव और सत्तारूढ़ भाजपा को उसी के अंदाज में जवाब देने के लिए, कांग्रेस का महत्वपूर्ण कदम मान रहे हैं।वही जब इस साल के आखिर में मध्यप्रदेश समेत देश के 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं और अगले साल लोकसभा का चुनाव है, इसको देखते हुए राहुल गांधी की भक्ति को कांग्रेस की चुनावी रणनीति भी नाम दिया जा रहा है।