MP : बंद के दौरान बवाल, पथराव के बाद पुलिस ने किया लाठीचार्ज

सीधी। सोशल मीडिया पर बंद के आह्वान के चलते प्रदेश भर में पुलिस अलर्ट है| भिंड, मुरैना और ग्वालियर के डबरा समेत पांच थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया है। वहीं कई जिलों में धारा 144 लागू है| हालांकि सभी जिलों में सामान्य हालात बने हुए हैं| इस बीच सीधी में बंद के दौरान कुछ लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया, जिसके बाद स्थिति बिगड़ गई| पुलिस ने प्रदर्शन को बढ़ता हुआ देखकर कर लाठीचार्ज कर दिया है। जिससे कुछ मीडिया प्रतिनिधियों सहित एक दर्जन आम नागरिक भी घायल हुए है।  पथराव की वजह से पुलिस की गाड़ी को नुकसान पहुंचा है।  उपद्रवी तत्वों को हटाने के लिए पुलिस ने लाठियां भांज दी|  

दरअसल, 10 अप्रैल को बंद की संभावना को देखते हुए पहले ही प्रदेश भर में पुलिस ने चौकसी बड़ा दी है| चप्पे चप्पे पर पुलिस बल तैनात किया गया| अन्य जिलों में, खासकर चम्बल ग्वालियर क्षेत्र में कर्फ्यू के कारण हालात सामान्य है| लेकिन सीधी में स्तिथि बिगड़ गई|  भारत बंद को लेकर बड़ी संख्या में लोग आंबेडकर चौराहे पर पहुंचे और अपना विरोध दर्ज करवाया। सभी एकत्र होकर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपने जा रहे थे। इसी विरोध को लेकर पुलिस ने कार्यकर्ताओं पर लाठी चार्ज किया और मामला बिगड़ गया | मौके पर पहुंचे कलेक्टर दिलीप कुमार और एसपी मनोज श्रीवास्तव ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को शांतिपूर्ण तरीके से विरोध करने की समझाइश दी।  भारत बंद के दौरान सीधी में हुए चौतरफा बवाल को लेकर रीवा आईजी ने भारी संख्या में पुलिस बल सीधी के लिए रवाना कर दिया है। एहतियातन कोई बड़ी घटना न हो इसलिए ये कदम उठाया गया है। 

अधिवक्ताओं पर लाठीचार्ज 

पुलिस के लाठी-चार्ज शुरू करने से भगदड़ मच गई।  इस बीच कुछ अज्ञात लोगों ने पत्थर बरसाना शुरू कर दिया गया। जिससे पुलिस कर्मियों सहित अन्य आम लोगों को भी चोटे आई। घायलों मे करीब पांच महिला पुलिस कर्मी सहित अधिवक्ताओं व अन्य लोगों को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय मे भर्ती कराया गया है।जिला प्रशासन के निर्णय के विरोध व बंद के समर्थन मे जिला न्यायालय के समक्ष अधिवक्ताओं का जत्था एकत्रित था। जहां वे जिला प्रशासन मुर्दाबाद के नारेबाजी कर रहे थे, लाठी चार्ज के दौरान पुलिस ने अधिवक्ताओं  पर भी लाठीचार्ज कर दिया, जिससे सात अधिवक्ताओं को चोटे आई हैं|