पोर्श ने भारत में लॉन्च की पहली इलेक्ट्रिक SUV, मिल रहें कई बेहतरीन फीचर्स, जान लें कार से जुड़ी खास बातें

Porsche Macan EV भारत में लॉन्च हो चुकी है। इसे कई खास फीचर्स से लैस किया गया है। आइए जानें इलेक्ट्रिक एसयूवी में को क्या खास बनाता है?

Manisha Kumari Pandey
Published on -
Porsche Macan EV

Automobile News: लग्जरी कार निर्माता कंपनी Porsche ने अपनी नई इलेक्ट्रिक एसयूवी भारत में लॉन्च कर दी है। यह कंपनी की पहली ऑल-इलेक्ट्रिक एसयूवी है। कार का नाम “Porsche Macan EV” है। एसयूवी नई टेक-सेन्ट्रिक इंटीरियर डिजाइन पावरफुल इंजन के साथ आती है। इसकी कीमत 1.65 करोड़ रुपये है। कार के दो मॉडल मिलते हैं- मैकन 4 और मैकन ट्यूर्बो। भारत में Macan Turbo लॉन्च हुआ है।

Porsche Macan EV

ऐसा है लुक

नई पोर्श मैकन का फ्रंट लुक आपको Taycan की याद दिला सकता है। इसमें 4 प्वाइंट एलइडी डीआरएल दिए गए हैं। बम्पर के नीचे हेडलाइट जोड़े गए हैं। फाइव स्पोक एलॉय व्हील्स स्पोर्टी लुक के साथ मिलते हैं, जिसकी साइज करीबन 22 इंच है ‌। बैक में एलईडी टेल लैंप्स दिए गए हैं।

Porsche Macan EV

इंटीरियर डिजाइन और फीचर्स

कार का इंटीरियर आपको Cayenne फेसलिफ्ट की याद दिला सकता है। इसमें ट्रिपल स्क्रीन सेटअप दिया गया है, जिसमें 12.6 इंच का डिजिटल ड्राइवर डिस्प्ले, पैसेंजर के लिए 10.9 इंच का डिस्प्ले और 10.9 इंच टच स्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम मिलता है। इंफोटेन्मेंट सिस्टम एंड्राइड ऑटोमोटिव ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित है। अन्य फीचर्स की बात करें तो इलेक्ट्रिक कार में पार्किंग असिस्ट, ऑटोमेटिक क्लाइमेट कंट्रोल्स, लेन चेंज असिस्ट और क्रूज कंट्रोल जैसे सेफ्टी फीचर्स छोड़े गए हैं।

Porsche Macan EV

पावरट्रेन

ईवी को 100kWh बैटरी पैक और दो इलेक्ट्रिक मोटर से लैस किया गया है। टॉप स्पीड 220 किलोमीटर प्रति घंटा है। इसका Turbo वर्जन 630 बीएचपी पावर और 1000Nm टॉर्क जनरेट करने में सक्षम है। रेंज 380 माइल हैं। यह 5.2 सेकंड में 0 से 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार पकड़ने में सक्षम है।


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News