नागपुर से इंदौर पहुंचे 200 रेमडेसिविर इंजेक्शन, स्टेट प्लेन से अलग अलग जिलों को हुए उपलब्ध

प्रदेश के कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट ने इंदौर में मीडिया को बताया कि इंदौर से अलग अलग जिलों में रेमडेसिविर इंजेक्शन पहुंचाये जा रहे है और रेमडेसिविर के लिए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री प्रयासरत है। वचनबद्ध होकर युद्ध स्तर पर प्रयास कर रहे है और ये उसी का परिणाम है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। रेमडेसिविर इंजेक्शन की बड़ी खेप गुरुवार सुबह सड़क मार्ग नागपुर से इंदौर पहुंची। इंदौर से अब इन्हें स्टेट प्लेन और चॉपर द्वारा अलग अलग जिलों में भेजा जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 200 बॉक्स में कुल 9600 रेमडेसिवीर इंजेक्शन हैं। जिनमें से चॉपर के माध्यम से 42 बॉक्स भोपाल, 7 बॉक्स रतलाम और 4 बॉक्स खंडवा पहुंचाया जाएंगे। इसी तरह स्टेट प्लेन के द्वारा 19 बॉक्स ग्वालियर, 18 बॉक्स रीवा, 39 बॉक्स जबलपुर और 14 बॉक्स सागर पहुंचाये जाएंगे‌। वही 57 रेमडेसिवीर इंजेक्शन के बॉक्स इंदौर के लिए रखे जाएंगे।

कुछ देर पहले ही दावा की खेप लेने एअरकार्गो के अधिकारी पहुंचे थे जहां कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट, संभागायुक्त पवन शर्मा, एडीएम अजय देव शर्मा और एमजीएम कॉलेज के डीन संजय दीक्षित मौजूद रहे। संभागायुक्त डॉ. पवन शर्मा ने बताया कि डॉक्टर्स द्वारा रेमडेसिविर इंजेक्शन मरीजो को प्रिस्क्राइब किया जाता है और उसके बाद मध्यप्रदेश सरकार ने इंजेक्शन का अरेंजमेंट किया है। उन्होंने बताया कि पहली बार सरकार ने ऐसा प्रबंध किया है कि इंदौर से जल्दी इंजेक्शन उन जिलों में पहुंचे जहां जरूरत है।

जिसके चलते स्टेट हेलिकॉप्टर से भोपाल, रतलाम और खंडवा संभाग में पहुंचाये जा रहे है। इसी के साथ प्लेन ग्वालियर, जबलपुर, रीवा और सागर भेजे जा रहे ताकि 2 से 4 घण्टे में सब स्थानों पर इंजेक्शन पहुंच जाए। उन्होंने बताया कि वितरण के हिसाब से समूचे प्रदेश में 75 प्रतिशत इंजेक्शन मेडिकल कॉलेज को दिए जाएंगे और 25 प्रतिशत इंजेक्शन हेल्थ डिपार्टमेंट को वितरित किये जायेंगे जिसकी सहायता से जिला अस्पतालो में इंजेक्शन उपलब्ध हो सकेंगे।

Read More: कोरोना कर्फ्यू में दिखाई दी सख्ती, निर्धारित समय निकलते ही एक्शन में आया प्रशासन

इंदौर को 2750 इंजेक्शन मिले

सड़क मार्ग के जरिये नागपुर से आई रेमडेसिविर इंजेक्शन की खेप में से इंदौर को 2750 इंजेक्शन मिले है। जिनमे से 1500 मेडिकल कॉलेज और 1250 हेल्थ डिपार्टमेंट को उपलब्ध कराए गए है। वही 1250 इंजेक्शन में से धार, बड़वानी और खरगोन जिलों में पहुंचाये जाएंगे।

मंत्री ने कहा कि सीएम युद्ध स्तर पर प्रयास कर रहे है

प्रदेश के कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट ने इंदौर में मीडिया को बताया कि इंदौर से अलग अलग जिलों में रेमडेसिविर इंजेक्शन पहुंचाये जा रहे है और रेमडेसिविर के लिए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री प्रयासरत है। वचनबद्ध होकर युद्ध स्तर पर प्रयास कर रहे है और ये उसी का परिणाम है। वही उन्होने कहा कि इंजेक्शन के वितरण में पूरी पारदर्शिता बरती जा रही है वही उन्होंने ये भी माना कि इंजेक्शन की मांग और पूर्ति में बढ़ते मरीजो के चलते अंतर आ रहा है।

इसमे थोड़ी दिक्कत आ रही है। वही ऑक्सीजन की कमी को लेकर मंत्री सिलावट ने कहा कि ऑक्सीजन को लेकर उनकी सीएम से निरंतर चर्चा चल रही है। वही उन्होंने इस संबंध में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, थावरचंद गेहलोत, पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और बीजेपी राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से अनुरोध किया है कि ऑक्सीजन की खपत के लिए ज्यादा ज्यादा ऑक्सीजन केंद्र सरकार से मिले।