शहला मसूद हत्याकांड का अभियुक्त मौन धरने में शामिल, जीतू पटवारी ने BJP को घेरा

भोपाल में मौन धरने के दौरान सीएम शिवराज के साथ बैठे ध्रुवनारायण पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ध्रुव नारायण को साथ बैठकर आखिर कैसे महिला हितों की बात कर सकते है शिवराज सिंह चौहान।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। डबरा में पूर्व सीएम कमलनाथ (Former CM Kamal Nath) के आइटम वाले बयान पर भले ही प्रदेश में बवाल मचा हुआ है लेकिन कांग्रेस (Congress) इन बयान को गलत अर्थ में ले जाने का आरोप BJP पर लगा रही है।आज सोमवार को इंदौर में पूर्व मंत्री और विधायक जीतू पटवारी (Former Minister Jeetu Patwari) ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि भोपाल में बीजेपी के VIP मौन धरने में शिवराज सिंह चौहान के बगल में शहला मसूद हत्याकांड (Shehla Masood Massacre) का मुख्य आरोपी ध्रुव नारायण सिंह (The main accused Dhruv Narayan Singh) बैठा हुआ था, यही बीजेपी का महिलाओं के प्रति सम्मान है। वही उन्होंने वर्तमान PWD मंत्री द्वारा सालों पहले कल्याणी पांडे (Kalyani Pandey) के लिए की गई टिप्पणी का भी जिक्र किया।।

भोपाल में मौन धरने के दौरान सीएम शिवराज के साथ बैठे ध्रुवनारायण पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ध्रुव नारायण को साथ बैठकर आखिर कैसे महिला हितों की बात कर सकते है शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan)। हालांकि इंदौर में जीतू पटवारी पूरी प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कमलनाथ द्वारा इमरती देवी को लेकर दिए गए बयान पर सटीक जबाव नही दे पाए लेकिन पटवारी के बोल से ये साफ हो गया है कि आने वाले समय मे कांग्रेस कोई बड़ा ट्रम्प कार्ड उपचुनाव के लिहाज से खेल सकती है क्योंकि बात सत्ता और सीट की है जिस पर हर दल काबिज होना चाहता है फिर कदम कोई भी क्यों न उठाना पड़े।

जीतू पटवारी ने कहा कि पूर्व सीएम के कमलनाथ के बयान को आधार बनाकर बीजेपी बेसिक मुद्दों से जनता का ध्यान हटाना चाहती है। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया प्रभारी जीतू पटवारी ने इंदोर में शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जमकर निशाना साधा और कहा कि शिवराज सिंह ने सत्ता खरीदी और सिंधिया ने सत्ता बेची है। पटवारी ने भाजपा के मौन धरने पर कटाक्ष करते हुए कहा कि VIP उपवास का उद्धेश्य मुद्दों से भटकाना है। पटवारी ने कहा कि चुनाव के कारण सिंधिया और तुलसी सिलावट के साथ रहना भाजपा कार्यकर्ताओं की मजबूरी है और चुनाव बाद सिंधिया और तुलसी सिलावट सड़कों पर दिखेंगे।

जीतू पटवारी ने कहा कि कुल मिलाकर भाजपा, जिस चाल चरित्र और चेहरे की बात करती है वह जनता के सामने उजागर हो चुका है आज बस इनको कमलनाथ ही दिख रहे है। पटवारी ने कहा कि प्रदेश में पिछले 6 माह में हत्या, बलात्कार, अपहरण, दलितों के साथ अन्याय, माफिया राज, गुंडागर्दी सब बढ़ रहे है। मुद्दा विहीन भाजपा के पास कुछ नही है जनता से कहने को तो वह तरह-तरह के बहाने ढूंढ रही है। उज्जैन में जहरीली शराब से 20 लोगो की मौत हो गई लेकिन तीन दिन सरकारी जागी और बीजेपी का कोई नेता इस मामले में बोलने के लिए सामने नही आया।

पटवारी ने भाजपा द्वारा आज दिए गए मौन धरने को मुद्दों से भटकाने वाला हथकंडा बताया वही इमरती देवी को लेकर कहा कि इमरती देवी ने लोकतंत्र की पीठ में छुरा घोपा है और भाजपा मुद्दों को भटकाने की कोशिश कर रही है लेकिन मुद्दे भटकाकर भाजपाई कुछ भी कहे, वे जनता के अपराधी है और उपचुनाव में जनता उन्हें सबक जरूर सिखाएगी। उपचुनाव में हार के डर से भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री को कभी कड़कनाथ कभी कलंकनाथ कहकर सम्बोधित किया था और अब बवाल मचा रहे है।

इधर, बीजेपी के मौन प्रदर्शन पर जीतू पटवारी ने ये भी कहा कि भाजपा ने खंडवा में किसान मर गया वहा मौन प्रदर्शन क्यो नही किया नेता भाषण देते रहे और किसान दम तोड़ता रहा। उन्होमे कहा कि बीते बीजेपी की सरकार के 15 सालों में 25 हजार किसानों ने आत्महत्या कर लेकिन भाजपा मौन क्यो है और भाजपा जब मौन क्यो नही हुई जब बीजेपी सरकार किसानों का कर्जा खा गई। बीजेपी मौन क्यों नही हुआ जब उज्जैन में 20 आदमी जहरीली शराब पी कर मर गए।

जबलपुर मे बेटे का अपहरण पर बीजेपी मौन क्यों नही हुई औऱ भोपाल में गैंग रेप पर बीजेपी मौन क्यों नही हुई। और आज फाइव स्टार होटल में मौन धरने मे उन्हें बिठाया जा रहा जो शेहला मसूद में हत्याकांड में अभियुक्त रहा क्या ऐसे मौन धरने में महिला का सम्मान था। पूर्व मंत्री पटवारी ने कहा भारतीय जनता पार्टी का चरित्र, ध्यान भटकाने का है जनता पूछ रही है हमारा कर्ज माफ क्यो नही हो रहा है है बिजली बिल ज्यादा क्यो आ रहा है उसका जवाब बीजेपी दे।गद्दारी क्यों हुई, लोकतंत्र पर कलंक क्यो है, बीजेपी को इन मुद्दों पर जनता सबक सिखाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here