शिवराज सरकार के लव जिहाद कानून ऐलान के बाद पूर्व मंत्री का पलटवार- प्यार सारे कानूनों से परे

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि यदि कोई शादी के लिए स्वयं की इच्छा से धर्म परिवर्तन करता है तो उसे शादी के 1 महीने पूर्व कलेक्टर को आवेदन करना होगा।

लव जिहाद

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश सरकार (Madhya pradesh Government) लव जिहाद (Love jihad) के खिलाफ नए कानून बनाने की तैयारी कर रही है। जिसके लिए विधानसभा सत्र में विधेयक लाया जाएगा। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने कहा कि अगले विधानसभा सत्र में प्रदेश में लव जिहाद के खिलाफ विधेयक लाया जाएगा। वही इसमें 5 साल के कठोर कारावास की सजा का भी प्रावधान रहेगा। अब इस मामले में सियासत शुरू हो गई है। लव जिहाद कानून पर बोलते हुए पूर्व मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता पीसी शर्मा (PC Sharma) ने शिवराज सरकार (shivraj government) पर निशाना साधा है।

दरअसल मीडिया से बात करते हुए पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि प्यार दुनिया का ऐसा शब्द है, जो सभी कानूनों से परे है। सरकार को जो भी कानून बनाना है। उसके विधेयक विधानसभा में लेकर आए। इसके गुण और दोष के बारे में विधानसभा में चर्चा की जाएगी।

Read More: PHQ ने गृह विभाग को भेजा प्रस्ताव, IPS अफसरों के 15 फीसदी पद बढ़ाने की तैयारी

इससे पहले पूर्व मंत्री पी.सी शर्मा ने शिवराज सरकार पर आरोप लगाया है कि 8 महीने में शिवराज सरकार ने सिर्फ उपचुनाव (by-election) वाले जिलों में ही कार्य किए हैं जबकि सरकार को पूरे प्रदेश को लेकर चलना चाहिए। इसके साथ ही कांग्रेस नेता शर्मा ने कहा कि प्रदेश में विकास कार्य ठप हो गए हैं। उन्होंने मांग की है कि जल्द से जल्द विधानसभा का शीतकालीन सत्र बुलाया जाए और विधायकों की बात सुनी जाए। वहीं दूसरी तरफ सूत्रों की माने तो दिसंबर महीने में पहले सप्ताह में शीतकालीन सत्र बुलाई जा सकती है। इससे पहले विधानसभा के प्रमुख सचिव एपी सिंह ने अपने बयान में कहा है कि शीतकालीन सत्र में ही नए विधायकों का शपथ ग्रहण समारोह किया जाएगा।

बता दें कि मंगलवार को नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मध्यप्रदेश लव जेहाद पर कठोर कानून की तैयारी में है। जल्द ही विधानसभा में विधेयक प्रस्तावित होगा। इसके लिए 5 साल कठोर कारावास की सजा का प्रावधान होगा और गैर जमानती धाराओं के साथ केस दर्ज की जाएगी। इसके साथ ही गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि यदि कोई शादी के लिए स्वयं की इच्छा से धर्म परिवर्तन करता है तो उसे शादी के 1 महीने पूर्व कलेक्टर को आवेदन करना होगा।

इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj singh chauhan) ने भी लव जिहाद के खिलाफ बयान दिया है। लव जिहाद पर कानून बनाए जाने के ऐलान के बाद ही प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा (Rameshwar Sharma) ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को पत्र लिखकर लव जिहाद कानून बनाने के लिए उचित मसौदे की मांग की है। प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने कहा कि देश भर में इसके लिए एक गंभीर कानून बनना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here