अजब MP के गजब किस्से! जब DGP सहित आला अधिकारियों ने कॉन्स्टेबल को किया सैल्यूट

इसके साथ ही परेड का निरीक्षण भी किया। वहीं संयुक्त रिहर्सल परेड में 11 टुकड़ियां शामिल रही।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। अजब एमपी (MP) के गजब किस्से! यह सुनने में अटपटा जरूर लगेगा लेकिन क्या आपको पता है कि मध्य प्रदेश में हर साल कुछ घंटे के लिए एक कॉन्स्टेबल (constable), मुख्यमंत्री (cm) और राज्यपाल (governer) बनते हैं। जिन्हे ना सिर्फ पुलिस अधिकारी बल्कि डीजीपी (DGP) तक पूरे प्रोटोकॉल (protocol) का पालन करते हुए सैल्यूट (salute) करते हैं। जी हां प्रदेश में साल के 2 दिन ऐसे होते हैं जब आला पुलिस अधिकारी द्वारा एक कॉन्स्टेबल को सैल्यूट कर उन्हें सम्मानित किया जाता है।

दरअसल यह 2 दिन होते हैं गणतंत्र दिवस (republic day) और स्वतंत्रता दिवस। साल के इन दोनों दिवस पर मध्य प्रदेश पुलिस के जवान परेड करते समय कॉन्स्टेबल रामचंद्र कुशवाहा (ramchandra kushwaha) को पूरे प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सैल्यूट करते हैं और उन्हें राज्यपाल और मुख्यमंत्री की तरह ही माना जाता है। वहीं गणतंत्र दिवस समारोह में निकलने वाली संयुक्त परेड का आखिरी अभ्यास रविवार को भोपाल के लाल मैदान में किया गया। जिसके बाद रामचंद्र कुशवाहा को राज्यपाल और मुख्यमंत्री की संज्ञा देते हुए आला अधिकारियों द्वारा उन्हें सैल्यूट किया गया। वहीं समारोह की व्यवस्थाओं का जायजा डीजीपी विवेक जोहरी (vivek johri) द्वारा लिया गया।

Read More: खुशखबरी : अब घर बैठे डाउनलोड कर सकते वोटर आईडी, यह है पूरा प्रोसेस

दरअसल कांस्टेबल रामचंद्र सिंह कुशवाहा को राज्यपाल और मुख्यमंत्री की तरह सम्मान देने की कहानी नई नहीं है। बीते 16 वर्षों से हेड कांस्टेबल रामचंद्र कुशवाहा राज्यपाल और सीएम की भूमिका निभाते आ रहे हैं। साल में 2 दिन उन्हें कॉन्स्टेबल होने के बाद भी मध्य प्रदेश पुलिस और आला अधिकारियों सहित डीजीपी द्वारा सलाम किया जाता है। जहां कभी वह सीएम की भूमिका तो कभी राज्यपाल तो कभी प्रोटेम स्पीकर (protem speaker) सहित अन्य सम्मानीय पदों की भूमिका में रहते हैं। इतना ही नहीं रामचंद्र कुशवाहा डायस पर जाकर जन समूहों को निहारते भी हैं। वहीं इस गणतंत्र दिवस के मौके पर वो पहली बार प्रोटेम स्पीकर की भूमिका में रहे।

बता दें कि गणतंत्र दिवस के मौके पर परेड की सलामी इस बार मध्य प्रदेश के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा (rameswar sharma)लेंगे। जिसके लिए रविवार को परेड रिहर्सल किए गए। रिहर्सल के दौरान 7वीं बटालियन के हेड कांस्टेबल रामचंद्र कुशवाहा प्रोटेम स्पीकर के किरदार में नजर आए। वहीं उन्होंने ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली। इसके साथ ही परेड का निरीक्षण भी किया। वहीं संयुक्त रिहर्सल परेड में 11 टुकड़ियां शामिल रही।