खुशखबरी : अब घर बैठे डाउनलोड कर सकते वोटर आईडी, यह है पूरा प्रोसेस

आप आधार कार्ड (Aadhar Card) और पैन कार्ड (Pan Card) की तरह वोटर आईडी कार्ड भी ऑनलाइन (Online Voter Id Card) डाउनलोड कर सकते है।

वोटर आईडी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। अन्य देशों की तरह भारत (India) भी लगातार डिजिटल (Digital) की तरफ अपने कदम तेजी से बढ़ा रहा है। आधार कार्ड के बाद अब राष्‍ट्रीय मतदाता दिवस (National Voters’ Day) के मौके पर आज 25 जनवरी से देशभर में वोटर आईडी (Voter ID) यानि इलेक्‍ट्रॉनिक इलेक्‍टोरल फोटो आईडी कार्ड (Electronic electrical photo id card) की सुविधा शुरू हो गई है। इसके बाद आपका वोटर आईडी कार्ड डिजिटल हो जाएगा, जिसे मोबाइल (Mobile) या कंप्यूटर (Computer) पर डाउनलोड (Download) किया जा सकता है।

यह भी पढ़े… MP School : कक्षा 9वीं से 12वीं को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग ने तय किए यह टारगेट

भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) ने आज से इलेक्ट्रॉनिक इलेक्टर्स फोटो आईडेंटिटी कार्ड (e-EPIC) ऐप की शुरुआत कर दी है, जिसके बाद आप आधार कार्ड (Aadhar Card) और पैन कार्ड (Pan Card) की तरह वोटर आईडी कार्ड भी ऑनलाइन (Online Voter Id Card) डाउनलोड कर सकते है। डिजिटल वोटर आईडी कार्ड्स भी आधार की तरह PDF फॉर्मेट में होंगे, इन्‍हें Digilocker पर भी स्‍टोर किया जा सकेगा।इसमें एक सिक्‍योर्ड QR कोड होगा जिसमें तस्‍वीरें और डिमॉग्रैफिक्‍स होंगी ताकि उन्‍हें डुप्‍लीकेट न किया जा सके।

खास बात ये है कि पहले चरण यानी 25 जनवरी से 31 जनवरी के बीच केवल नए वोटर्स अप्लाई कर सकेंगे जिनका मोबाइल नंबर चुनाव आयोग के पास रजिस्‍टर्ड है, वही डिजिटल वोटर आईडी डाउनलोड कर पाएंगे। दूसरे चऱण यानि 1 फरवरी से सभी वोटर्स अपनी आईडी की डिजिटल कॉपी डाउनलोड कर सकेंगे बशर्ते उनका मोबाइल नंबर चुनाव आयोग से लिंक हो।अगर लिंक नहीं है तो EC में डीटेल्‍स री-वेरिफाई कराकर मोबाइल नंबर लिंक कराना होगा, इसके बाद ही वोटर आईडी डाउनलोड हो सकेगा।

यह भी पढ़े… इस दिन से नहीं चलेंगे 5,10 और 100 के पुराने नोट, RBI ने दिए संकेत

बता दे कि अभी तक आधार कार्ड, पैन कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस को डिजिटल वर्जन में डाउनलोड की सुविधा थी, लेकिन अब वोटर आईडी को भी आसानी से मोबाइल पर डाउनलोड कर सकते है।वही आयोग की यह पहल ऐसे समय पर की जा रही है जब आगामी महिनों में पांच राज्यों – पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव (Assembly elections) होने है।आयोग का तर्क है कि फिजिकल वोटर आईडी कार्ड प्रिंट होने और मतदाता तक पहुंचने में वक्त लगता है, ऐसे में डिजिटल आसानी से पहुंच सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here