कोरोना पेशेंट के साथ दुष्कर्म का प्रयास, आरोपी वार्ड बॉय गिरफ्तार

पीड़ितों ने वार्ड बॉय और अस्पताल के अन्य स्टाफ द्वारा उनके ऊपर हमला करने के गंभीर आरोप भी लगाए हैं, पीड़ितों ने ये भी कहा है कि जब से ये घटना हुई है तब से उनके मरीज के साथ इलाज में लापरवाही बरती जा रही है। अब पीड़ित इस बात पर अड़े हैं कि अस्पताल संचालक को भी इसमें सह अभियुक्त बनाया जाए

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर के एक निजी अस्पताल (Private Hospital) के वार्ड बॉय (Ward Boy) ने कोरोना पेशेंट महिला के साथ दुष्कर्म का प्रयास कर मानवता को शर्मिंदा कर दिया है। आरोपी वार्ड बॉय (Ward Boy) ने देर रात होटल में बने निजी अस्पताल (Private Hospital) के प्राइवेट वार्ड में घुसा और उसने महिला मरीज के साथ अश्लील हरकत की। गंभीर हालत में ऑक्सीजन सपोर्ट पर चल रही महिला ने जब हिम्मत कर आवाज लगाई तो घटना का खुलासा हुआ। पुलिस ने आरोपी वार्ड बॉय (Ward Boy) को गिरफ्तार कर लिया है।

कोरोना महामारी में एक और जहाँ मानवता को बचाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं ऐसे में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो मानवता को शर्मसार कर रहे हैं।  ताजा मामला ग्वालियर का है जहाँ एक निजी अस्पताल (Private Hospital) के वार्ड बॉय (Ward Boy) ने एक कोरोना पेशेंट महिला के साथ दुष्कर्म (Rape) का प्रयास किया। परिजनों के मुताबिक वे अपनी पेशेंट को गंभीर हालत में 16 अप्रैल को लेकर ग्वालियर के लोटस अस्पताल (Lotus Hospital) में भर्ती कराने  आये थे । लोटस अस्पताल (Lotus Hospital) ने मरीज को अपने कोविड सेंटर होटल गोल्डन विलेज (Hotel Golden Village) में भर्ती करा दिया। 17 अप्रैल को हमारी पेशेंट ऑक्सीजन सपोर्ट पर आ गई। रात करीब 11 बजे अस्पताल का वार्ड बॉय (Ward Boy) विवेक लोधी हमारी पेशेंट के कमरे में गया।  मरीज ने कहा कि कुछ घबराहट हो रही है तो वार्ड बॉय (Ward Boy) ने चेकअप के बहाने यहाँ वहां छूना  शुरू कर दिया। शुरू में महिला पेशेंट इसे चेकअप का हिस्सा समझती रही लेकिन जब वार्ड बॉय (Ward Boy) महिला पेशेंट को गलत तरीके से छूने लगा और हाथ प्राइवेट पार्ट तक पहुंचा दिया तो महिला मरीज चिल्लाई  और उसे भगा दिया।

ये भी पढ़ें – 24 घंटे के अंदर हुआ शिवपुरी के अंधेकत्ल का खुलासा, वजह जान रह जाएंगे हैरान

परिजनों ने कहा कि रात को करीब 12 बजे एक बार फिर वार्ड बॉय (Ward Boy) विवेक लोधी महिला पेशेंट के कमरे में घुसा और कमरे की चटखनी अंदर से लगा ली और अश्लील हरकत करने लगा और दुष्कर्म का प्रयास किया।  महिला जब चिल्लाई तो  आवाज बाहर आई तो विवेक लोधी कमरे से बाहर भाग  गया। इतने में लोटस अस्पताल (Lotus Hospital) के संचालक डॉ प्रशांत अग्रवाल वहां आ गए , पीड़ितों  ने उन्हें पूरी बात बताई लेकिन उन्होंने आरोपी वार्ड बॉय (Ward Boy) को पुलिस को सौंपने से इंकार कर दिया और कहा कि आप पुलिस में रिपोर्ट लिखाओ।

पीड़ितों ने आरोप लगाया कि हम रातभर FIR की कोशिश करते रहे लेकिन सुबह जाकर FIR हुई है और आरोपी वार्ड बॉय (Ward Boy) विवेक लोधी को पुलिस ने पकड़ लिया है। पीड़ितों ने वार्ड बॉय (Ward Boy) और अस्पताल के अन्य स्टाफ द्वारा उनके ऊपर हमला करने के गंभीर आरोप भी लगाए हैं, पीड़ितों ने ये भी कहा है कि जब से ये घटना हुई है तब से उनके मरीज के साथ इलाज में लापरवाही बरती जा रही है। अब पीड़ित इस बात पर अड़े हैं कि अस्पताल संचालक को भी इसमें सह अभियुक्त बनाया जाए।  खबर लिखे जाने तक पुलिस ने इस बारे में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है।

ये भी पढ़ें – कोरोना संक्रमण के बीच JEE मेंस की परीक्षा स्थगित, केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी