Bhopal Metro Project: पहले रूट पर 50% से ज्यादा काम, प्रोजेक्ट पूरे होने में लगेंगे 4 साल!

ज्ञात हो कि अभी पहले रूट पर कार्य को अभी पूरा नहीं किया गया जबकि भोपाल में 2 रूट पर मेट्रो दौड़ेगी।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में मेट्रो प्रोजेक्ट (Metro project) को लेकर काफी लंबे समय से कार्य जारी है लेकिन कोरोना (corona) की वजह से भोपाल मेट्रो प्रोजेक्ट (Bhopal metro project) का काम धीमा पड़ गया है। वही प्रदेश ने एक बार फिर से Unlock की प्रक्रिया शुरू होने के बाद मेट्रो कार्य में तेजी के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं।

दरअसल भोपाल मेट्रो रेल कार्य (Bhopal metro rail) को लेकर अब तक के कार्यों की विस्तृत समीक्षा अधिकारी द्वारा की जा रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने 2024 तक इंदौर और भोपाल में मेट्रो रेल के दौड़ने के कार्य को पूरा करने के निर्देश दिए थे। फिलहाल भोपाल मेट्रो के कार्य का आकलन करें तो भोपाल मेट्रो प्रोजेक्ट का पहला रूट 16 किलोमीटर लंबा है। जो AIIMS से करोंद तक जाता है। फिलहाल इस रूट पर 50 प्रतिशत का निर्माण कार्य पूरा कर दिया गया है।

Read More: “मोदी सत्यानाशी, जहां-जहां जाएंगे सत्यानाश करेंगे”- दिग्विजय सिंह, क्लबहाउस चैट पर भी दिया बयान

बता दें कि इस रूट में बीते 30 महीने में होशंगाबाद, सुभाष नगर, एमपी नगर रोड में 180 पिलर खड़े किए गए हैं जबकि इस रूट पर कुल 225 पिलर तैयार होने हैं। ज्ञात हो कि 6981 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले इस प्रोजेक्ट पर अब तक 138 करोड़ रूपए खर्च किए गए हैं। वही विशेषज्ञों की माने तो भोपाल में मेट्रो कार्य पूरा होने में कम से कम 4 साल का वक्त लगेग।

इसके अलावा इस साल बजट में भोपाल मेट्रो के लिए 262 करोड़ रुपए मंजूर किए गए हैं। अधिकारियों की मानें तो बजट का एकमुश्त ना मिलना और जमीन अधिग्रहण की समस्या के कारण काम में धीमी गति देखी जा रही है। 6941 करोड़ों रुपए की लागत से भोपाल मेट्रो का निर्माण हो रहा है। जिसमें राज्य के अंश 20% जबकि केंद्र का अंश 20% जोड़ा गया है। इसके अलावा यूरोपियन इन्वेस्टमेंट बैंक से 50% लोन के अलावा भारतीय बैंक से कर्ज और बॉन्ड के आधार पर 10% राशि जुटाई जाएगी।

ज्ञात हो कि अभी पहले रूट पर कार्य को अभी पूरा नहीं किया गया जबकि भोपाल में 2 रूट पर मेट्रो दौड़ेगी। पहले रूट AIIMS से करौंद के बीच 16 किलोमीटर का होगा जबकि दूसरे रूट के कार्य को अभी शुरू नहीं किया गया है। दूसरा रूट भदभदा से रत्नागिरी तेरा किलोमीटर पर मेट्रो कार्य शुरू किया जाएगा।