प्रदेश के इन छात्रों के लिए शिवराज सरकार का बड़ा फैसला

अब प्रदेश में वर्ष 2020-21 से बढ़ी हुई शिष्यवृत्ति (Discipleship) की दर 1 जुलाई 2020 से प्रभावशील होगी।

मध्यप्रदेश

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में शिवराज सरकार (shivraj government) ने छात्रों के लिए बड़ा फैसला लिया है। इसके मुताबिक शिवराज सरकार ने छात्रावास में रह रहे विद्यार्थियों की शिष्यवृत्ति में बढ़ोतरी की है। इससे पहले मध्य प्रदेश उपचुनाव (MP By-election) के दौरान शिवराज सरकार ने यह ऐलान किया था।

आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा अनुसूचित जाति-जनजाति के छात्रावास में रह रहे छात्रों को सीएम शिवराज ने बड़ा लाभ दिया है। जहां विद्यार्थियों की शिष्यवृति दर में बढ़ोतरी की गई है। इसके मुताबिक अब प्रदेश में वर्ष 2020-21 से बढ़ी हुई शिष्यवृत्ति (Discipleship) की दर 1 जुलाई 2020 से प्रभावशील होगी।

Read More:  MP News : CM के जिले मे टीआई के खौफ से परेशान महिला अधिकारी

दरअसल आदिम-जाति कल्याण विभाग ने अनुसूचित-जनजाति के छात्रावास में रहने वाले विद्यार्थियों की शिष्यवृत्ति की दर में वृद्धि की है। वर्ष 2020-21 में बालकों की शिष्यवृत्ति प्रतिमाह 1300 रुपये और बालिकाओं के लिये 1340 रुपये की स्वीकृति विभाग द्वारा दी गई है। प्रदेश में अनुसूचित-जनजाति के छात्रावास में रहने वाले विद्यार्थियों की शिष्यवृत्ति की दर प्रत्येक वर्ष मार्च में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के आधार पर निर्धारित की जाती है। इस वर्ष बढ़ी हुई शिष्यवृत्ति की दर एक जुलाई, 2020 से प्रभावशील होगी।

बता दें कि इससे पहले भी आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा अनुसूचित जाति जनजाति के विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति को लेकर उन्होंने कई सवाल सरकार से पूछे थे। जिसके बाद निश्चित ही शिवराज सरकार का यह कदम उनके लिए इसे तोहफा से कम नहीं है।