विंध्य प्रदेश को लेकर बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी का बड़ा दावा

बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि अब विंध्य क्षेत्र के जन भावना को स्वीकार करना ही होगा। जन-मन का एकमात्र उद्देश्य विंध्य प्रदेश को अलग प्रदेश बनाना है।

रीवा, डेस्क रिपोर्ट मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में विंध्य (vindhiya) को अलग राज्य का दर्जा दिलाने की कवायद तेज हो गई है। दरअसल विंध्य को अलग राज्य का दर्जा दिलाने के लिए भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी (narayan tripathi) ने नए झंडे का लोकार्पण कर दिया गया है। इतना ही नहीं उन्होंने दावा किया है कि साल 2023-24 तक विंध्य, मध्य प्रदेश से अलग एक राज्य बनेगा।

दरअसल एक मीडिया चैनल से बात करते हुए भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि प्रदेश वर्षों से पिछड़ा हुआ है और जनता पूरी तरह से प्रताड़ित है। वर्षों से मध्य प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश को और उसकी उपयोगिता को नकारा जा रहा है। बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा कि अब विंध्य क्षेत्र के जन भावना को स्वीकार करना ही होगा। जन-मन का एकमात्र उद्देश्य विंध्य प्रदेश को अलग प्रदेश बनाना है। वही बीजेपी पार्टी गाइडलाइन के सवाल पर उन्होंने कहा कि विंध्य प्रदेश की मांग कर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी के सपने को साकार किया जा रहा है और हर स्तर पर विंध्य को अलग प्रदेश बनाने के लिए कार्य जारी रहेगा।

Read More: दतिया : नवरात्र पर कोरोना का कहर, रतनगढ़ मेले पर लगा प्रतिबंध

बता दें कि मध्य प्रदेश में लंबे समय से विंध्य प्रदेश की मांग की जा रही है। भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी पार्टी की सोच से इतर जाकर लगातार विंध्य की मांग उठा रहे हैं। वहीं पिछले दिनों बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी मध्य प्रदेश की मांग को लेकर भोपाल पहुंचे थे। जहां विंध्य प्रदेश की मांग को पूरा करते हुए उन्होंने मंत्रालय के सामने सम्मेलन आयोजित किया था।

भाजपा विधायक त्रिपाठी लगातार सतना रीवा और सीधी में जगह जगह बैठ कर जनसमूह से विंध्य प्रदेश की मांग की बात करते नजर आ रहे हैं। बता दें कि 1956 में मध्य प्रदेश का गठन हुआ था। तभी से अलग विंध्य प्रदेश बनाए जाने की मांग उठी थी लेकिन छह दशकों में उठे मांग को किसी न किसी वजह से दबा दिया जाता है। अब ऐसे में नारायण त्रिपाठी द्वारा लगातार विंध्य प्रदेश की मांग को लेकर कवायत तेज कर दी गई है।

विंध्य प्रदेश को लेकर बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी का बड़ा दावा