Yashpal Singh Sisodiya
Yashpal Singh Sisodiya

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। बीजेपी (bjp) के मुखर विधायक व वरिष्ठ नेता यशपाल सिंह सिसोदिया (yashpal singh sisodiya) ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) को ट्वीट (tweet) किया है। ट्वीट के माध्यम से कोरोना (corona) के चलते अनाथ हुए बच्चों के लिए बनाई गई पेंशन योजना (pension scheme) में शिथिलता देने का आग्रह किया गया है।

मंदसौर से बीजेपी विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एक ट्वीट किया है। ट्वीट मे उन्होंने मुख्यमंत्री कोविड-19 जनकल्याण (पेंशन, शिक्षा व राशन) योजना के नियमों में शिथिलता देने की मांग की है। यशपाल सिंह सिसोदिया ने ट्वीट में लिखा है “मुख्यमंत्री जी, आप की संवेदनशीलता और निर्णय प्रशंसनीय। आभार। कोरोना से कालकलवित कुछ मरीज RTPCR, रैपिड एन्टीजन टेस्ट, सीटी स्कैन (CT Scan) नहीं करवा पाए। जो नियम बने हैं उनमें जांच रिपोर्ट का उल्लेख है। आग्रह है, जिन का अंतिम संस्कार कोरोना प्रोटोकॉल से हुआ, उसे भी शामिल किया जाए।”

Read More: शिवराज सरकार ने किसानों को दी बड़ी राहत, जिला कलेक्टरों को मिले निर्देश

दरअसल विधायक के ट्वीट का उद्देश्य मुख्यमंत्री कोविड-19 जनकल्याण (पेंशन, शिक्षा व राशन) योजना उस नियम से है जिसमें लिखा गया है कि कोविड-19 से पीड़ित होना या तो RTPCR टेस्ट या रैपिड एंटीजन टेस्ट या सीटी स्कैन या किसी अन्य टेस्ट द्वारा अधिकृत चिकित्सक द्वारा कोविड-19 से पीड़ित होना पाया गया हो,माना जायेगा। विधायक का मानना है कि कई ऐसी मौतें हुई हैं। जो इन टेस्ट में या तो पॉजिटिव नहीं पाई गई या जिन्होंने टेस्ट नहीं कराया गया।

फिर भी उनका अंतिम संस्कार कोविड प्रोटोकॉल से किया गया, ऐसे लोगों को भी योजना का लाभ मिलना चाहिए, ताकि योजना की मूल मंशापूर्ण हो सके। इस योजना के अंतर्गत माता-पिता या अभिभावक की मृत्यु होने पर बच्चे को 21 साल की उम्र पूरा होने तक 5000 रू प्रतिमाह की पेंशन के साथ-साथ मुफ्त शिक्षा व राशन देने का प्रावधान है।