MP Corona : क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक आज, सीएम शिवराज ले सकते हैं बड़ा फैसला

MP में अब तक 10 नए वेरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) मरीजों की पुष्टि हो चुकी है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में एक सप्ताह में जहां कोरोना केसों (MP Corona cases) की संख्या बेलगाम बढ़ती जा रही है। वहीं दूसरी तरफ सोमवार से प्रदेश में 15 से 18 वर्षीय बच्चों के टीकाकरण (vaccination) की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इसके लिए 1 जनवरी से रजिस्ट्रेशन (registration) का काम शुरू कर दिया गया है। इसी बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी (Crisis Management Committee) की बैठक लेंगे। इस बैठक में सीएम शिवराज (CM Shivraj) बच्चों के वैक्सीनेशन को लेकर चर्चा करेंगे।

इतना ही नहीं इस बैठक में 12 लाख बच्चों को वैक्सीन लगाने के लक्ष्य पर चर्चा की जाएगी। इसके अलावा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, पंचायत सचिवों को भी सीएम शिवराज संबोधित करेंगे। प्रदेश के करीब 49 लाख 27 हजार बच्चों को वैक्सीन लगाई जानी है। जिसके लिए प्रथम चरण में पहले दिन 12 लाख बच्चों का लक्ष्य रखा गया है। इसके अलावा प्रदेश में कोरोना संक्रमण की तैयारी को देखते हुए सीएम शिवराज क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में प्रदेश के सभी जिलों के संबंधित अधिकारी को भी बड़े निर्देश दे सकते हैं।

वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के 15 से 18 वर्ष के बच्चों को Corona टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन कराने का आग्रह किया है। इस दौरान सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने ट्वीट करते हुए कहा कि नए साल के अवसर पर 1 जनवरी से देश में 15 से 18 वर्ष के बच्चों के टीकाकरण के लिए cowin पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। सभी पात्र बच्चों के परिजन से आग्रह है कि बच्चों का रजिस्ट्रेशन अवश्य करवाएं।

Read More : OBC महासभा आज करेगी मुख्यमंत्री आवास का घेराव, पुलिस ने भेजा नोटिस

सीएम शिवराज ने कहा कि किशोरों को कोरोना वैक्सीन लगाने का अभियान 3 जनवरी से शुरू होगा। 1 जनवरी से cowin ऐप के जरिए बच्चे रजिस्ट्रेशन शुरू कर देंगे। वही ऐसे बच्चे जिनका जन्म 2007 में या उससे पहले हुआ है, वह रजिस्ट्रेशन के लिए पात्रता रखते हैं। मध्यप्रदेश में 1 जनवरी को 124 नए मरीजों की पुष्टि हुई थी। जिसमें सबसे ज्यादा मामले इंदौर से 80 रिकॉर्ड किए गए थे। वहीं 27 मरीज भोपाल से सामने आए थे।

बता दें कि बीते 14 दिनों में प्रदेश में 633 नए मरीजों की पुष्टि हुई। जिसमें भोपाल और इंदौर में सबसे ज्यादा मामले देखने को मिले। इसके अलावा छोटे जिलों में भी संक्रमण की संख्या में बढ़ोतरी देखी जा रही है। जिसके बाद मध्य प्रदेश सरकार द्वारा होम आइसोलेशन (Home isolation) की व्यवस्था शुरू कर दी गई है। साथ ही अस्पतालों में पर्याप्त ऑक्सीजन की व्यवस्था की जा रही है।

इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में Corona की तीसरी लहर को रोकने के लिए सभी कब आए थे। इसकी जारी है लेकिन जन सहयोग की अपेक्षा की जाती है। उन्होंने कहा कि सभी आवश्यक सुविधाएं तैयार कर ली गई है लेकिन लोगों को सजग और सतर्क रहने की आवश्यकता है। MP में अब तक 10 नए वेरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। इससे पहले केंद्र सरकार द्वारा WHO के निर्देश के बाद सभी राज्य सरकार और केंद्र शासित प्रदेशों को निर्देश दिए गए हैं।

जिसमें कहा गया है कि राज्य सरकार द्वारा होम आइसोलेशन की व्यवस्था शुरू करने के साथ ही साथ अस्पतालों में पर्याप्त भीड़ और ऑक्सीजन की व्यवस्था को पुख्ता किया जाए। साथ ही दर 10% से अधिक होने पर या अस्पतालों में मरीज के 40% ICU या ऑक्सीजन सपोर्ट पर होने पर कंटेनमेंट जोन तैयार किए जाए। कई राज्यों में प्रतिबंध को लागू कर दिया गया है दिल्ली सहित हरियाणा में सिनेमाघर सहित स्कूल कॉलेजों को बंद कर दिया गया है। जबकि कई राज्य में नाइट कर्फ्यू लगाए जा चुके हैं।