OBC महासभा आज करेगी मुख्यमंत्री आवास का घेराव, पुलिस ने भेजा नोटिस

पुलिस के द्वारा 8 पदाधिकारियों को भेजे गए नोटिस को लेकर दिनेश सिंह ने कहा कि हमने पहले ही अपने आंदोलन की सूचना सरकार को दे दी थी।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। अन्य पिछड़ा वर्ग यानी OBC महासभा रविवार को मुख्यमंत्री निवास (CM House) का घेराव करने जा रही है। शहरी व ग्रामीण स्थानीय निकायों में OBC आरक्षण (OBC Reservation) समाप्त करने का सरकार पर महासभा ने आरोप लगाया है। पुलिस ने महासभा के पदाधिकारियों को नोटिस (notice) भेजकर कोरोना (corona) का हवाला दे प्रदर्शन न करने की बात कही है।

नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव में OBC आरक्षण खत्म करने के खिलाफ OBC महासभा लामबंद हो गई है। सोमवार को मुख्यमंत्री निवास का घेराव कर वह अपना विरोध जतायेगी। इसके पहले शनिवार की शाम OBC महासभा के कुछ पदाधिकारियों को नजरबंद कर लिया गया। OBC महासभा के पदाधिकारियों ने वीडियो जारी करके पुलिस पर यह आरोप लगाया है। हालांकि पुलिस इस से इंकार कर रही है।

Read More : UGC की कई UG-PG स्कॉलरशिप स्कीम, योग्य छात्रों को मिलेगी उच्च शिक्षा में मदद

वहीं दूसरी ओर पुलिस ने OBC महासभा के 8 पदाधिकारियों को नोटिस भेजा है और उनसे कहा है कि कोरोना के चलते इस तरह के प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी जा सकती। साथ ही इस तरह के प्रदर्शन से शांति भंग होगी। इसीलिए यह न किया जाए। OBC के साथ इस प्रदर्शन में जयस भी शामिल हो रहा है। इसके साथ ही भीम आर्मी के लोग भी इस कार्यक्रम में शामिल हो रहे हैं।

OBC महासभा के प्रदेश संयोजक दिनेश सिंह ने कहा है कि सरकार जिस तरह से OBC महासभा के इस प्रदर्शन को रोकने चाहती है), वह ठीक नहीं है और हम दमनकारी नीतियों से घबराने वाले नहीं है। यदि सरकार हमारी मांगों को नहीं मानती है तो अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठेंगे। पुलिस के द्वारा 8 पदाधिकारियों को भेजे गए नोटिस को लेकर दिनेश सिंह ने कहा कि हमने पहले ही अपने आंदोलन की सूचना सरकार को दे दी थी। बावजूद इसके यह नोटिस जारी करना सरकार की नीति और नीयत को बताता है।

वहीँ इस मामले में विवेक तन्खा (Vivek tankha) का कहना है कि OBC का प्रदर्शन भोपाल सरकार के गिरफ़्तारी के साये में होगा। भाजपा को ओबीसी लीडर्ज़ से भेट करनी चाहिए। वो गिरफ़्तार कर इस शांति पूर्ण प्रदर्शन को कुचल रहे है। परिणाम भाजपा को बहुत दूरगामी भुगतने होगे। आश्चर्य होता है एमपी सीएम की बदली सोच पर। शायद लम्बा कार्यकाल अपराधी है।

इधर भोपाल पहुंचते ही OBC के लोकेंद्र गुर्जर सहित अन्य कार्यकर्ताओं को अज्ञात द्वारा किया गया है। जिसका वीडियो उन्होंने सोशल मीडिया पर वायरल किया है। वायरल वीडियो में उनके कार को चारों तरफ से किसी अज्ञात कार सवारों ने घेरा हुआ है। साथ ही उन सभी के मोबाइल भी जब्त कर लिए गए हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) का कहना है कि ओबीसी महासभा के पदाधिकारियों के मुताबिक़ उन्हें डराया – धमकाया जा रहा है , नोटिस थमाये जा रहे है , थानो में बैठाया जा रहा है। पता नही शिवराज सरकार को ओबीसी वर्ग से इतना भय क्यों ? ना सरकार ओबीसी वर्ग का हित चाहती है और ना उनकी सुनना है।