भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ने किसानों के लिए बड़ा ऐलान किया जाए। उन्होंने कहा कि मंडी एवं समर्थन मूल्य व्यवस्था को बंद रखने की बात पूरी तरह से असत्य है। सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने कहा कि किसान इस बातों पर कभी ध्यान ना दें।

इतना ही नहीं राज्य शासन ने धान और बाजरा उत्पादक किसानों के समर्थन मूल्य पर खरीदने की व्यवस्था भी सुनिश्चित की है। इसके लिए राज्य शासन द्वारा किसानों का पंजीयन करवाया गया है वहीं तुलाई का कार्य भी जारी है। सीएम शिवराज ने कहा है कि जिन किसानों का रजिस्ट्रेशन कराया गया है उनकी उपज का धान और बाजरा दोनों खरीदा जाएगा।

Read More: भोपाल में बनेगा अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी, 20 हेक्टेयर जमीन हुई तय

इसके साथ ही साथ उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर धान बाजरा बेचने वालों ने किसी अन्य स्थान से आकर मध्यप्रदेश में अपनी फसल की बेचने की कोशिश की तो उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। सीएम शिवराज ने कहा कि गलत तरीके से एमएसपी के जरिए गड़बड़ी करने वालों पर भी शासन बड़ी कार्रवाई करेगा।

इससे पहले बड़ा ऐलान करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि प्रदेश में 50 वर्षों से 12 एकड़ कृषि भूमि पर काबिज परिवारों को पट्टे दिए जाएंगे। जिसके लिए भूमि संबंधी सभी रिकॉर्ड की ऑनलाइन व्यवस्था की जा रही है। वे जल्दी ही स्व-सहायता समूह की 450 महिलाओं के खातों में 2 करोड़ से ज्यादा की राशि देंगे।मैं अपनी स्वसहायता समूह की बहनों की आमदनी बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हूं। मेरी बहनें बच्चों का गणवेश बनायेंगी। पोषण आहार बनायेंगी। मेरी बहनें आर्थिक रूप से सशक्त बनें, इसमें कोई कसर नहीं छोड़ूंगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि उनकी सरकार ने पिछली सरकार द्वारा बंद की गई गरीबों के कल्याण की योजनाएं फिर प्रारम्भ कर दी हैं और अब प्रदेश में गरीबों की आबादी के मान से योजनाओं के लिए बजट दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बच्चे मन लगाकर पढ़ें, फीस मामा भरेगा।