कलेक्टर का एक्शन- एसडीएम सहित तीन अधिकारियों पर कार्रवाई, लगाया जुर्माना

कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के निर्देश पर एसडीएम सहित तीन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इसके साथ ही एक नायब तहसीलदार को आर्थिक जुर्माना भी लगाया गया है।

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में लगातार कार्य में लापरवाही बरतने के कारण अधिकारी कर्मचारियों पर एक्शन लिया जा रहा है सीएम शिवराज (CM shivraj) के आदेश के बाद समय सीमा के अंदर कार्यों का निराकरण करने वाले अधिकारियों पर जुर्माना सहित अन्य कार्रवाई की जा रही है। ऐसा ही एक मामला जबलपुर जिले से सामने आया है। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने समय सीमा के अंदर प्रकरणों का निराकरण न किए जाने पर एसडीएम (SDM) सहित तीन अधिकारियों पर कार्रवाई की है।

दरअसल सरकार की जन कल्याणकारी लोक सेवा प्रदाय गारंटी अधिनियम योजना के तहत अधिकारियों को निर्धारित समय सीमा के अंदर प्रकरणों के निराकरण करने के आदेश दिए गए थे। कार्य में लापरवाही बरतने के कारण कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के निर्देश पर एसडीएम सहित तीन अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इसके साथ ही एक नायब तहसीलदार को आर्थिक जुर्माना भी लगाया गया है।

Read More: विधायक की धमकी या पटवारी की मनमर्जी

बता दे कि पिछले दिनों कलेक्टर कर्मवीर शर्मा सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा बैठक ले रहे थे जैसे कई अधिकारियों की कार्य में लापरवाही सामने आने पर उन्होंने नायब तहसीलदार रांझी रूपेश्वरी कुंजाम पर 1000 रूपए आर्थिक जुर्माना लगाया। इसके साथ ही एसडीएम गोरखपुर मनेंद्र सिंह, नायब तहसीलदार गौरव पांडे और नगर निगम के स्वास्थ्य अधिकारी भूपेंद्र सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

इन अधिकारियों पर आरोप है कि इन्होंने समय सीमा के अंदर प्रकरणों का निराकरण आकर कार्य में लापरवाही बरती है। जिसके कारण सरकार की जनकल्याणकारी योजना में प्रकरणों की संख्या बढ़ती जा रही है। बता दें कि इससे पहले जबलपुर कलेक्टर ने 53 अधिकारियों पर कार्य में लापरवाही बरतने के कारण बड़ी कार्रवाई की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here