शिवराज के नए OSD को कांग्रेस ने बताया मोदी विरोधी, नरोत्तम बोले- CM से करूँगा बात

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि वह इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा करेंगे।

shivraj

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) के नवनियुक्त OSD को लेकर पूरे देश में मामला गरमा गया है। कांग्रेस के बाद अब BJP द्वारा शिवराज के नए OSD पर सवाल खड़े किए गए हैं। ज्ञात हो कि CM शिवराज के नए OSD तुषार पांचाल (tushar panchal) मोदी विरोधी है और उन्होंने कई ट्वीट (tweet) मोदी के विरोध में किए हैं। अब इस पर कांग्रेस (congress) ने बीजेपी को घेरने का काम किया है इसके साथ ही मोदी के बेहद करीबी ने अब नए OSD की नियुक्ति पर सवाल खड़े किए हैं।

दरअसल दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा (Tejinder Pal Singh Bagga) ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नवनियुक्त OSD तुषार पांचाल के सारे ट्वीट में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को टैग (Tag) कर दिया है। इस मौके को कांग्रेस ने भी हथियाने की कोशिश की है। कांग्रेस द्वारा लगातार सोशल मीडिया (social media) पर सीएम शिवराज और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) को घेरने का काम किया गया है। कांग्रेस ने लिखा है कि शिवराज सिंह ने छेड़ी मोदी के खिलाफ जंग, मोदी के घोर विरोधी को बनाया ओएसडी।

Read More: विश्वास सारंग ने कमलनाथ को दी महत्वपूर्ण सलाह- करें विश्राम

बता दें कि तुषार पांचाल शिवराज के बेहद करीबी माने जाते हैं। तुषार पांचाल 2015 से शिवराज सिंह चौहान का सोशल मीडिया हैंडल संभाल रहे हैं। इसके साथ ही शिवराज की कई कम्पैन में तुषार पांचाल की भूमिका अहम रही है। इसके अलावा पांचाल को सार्वजनिक मामलों सहित जनसंपर्क और विज्ञापन में 24 साल का अनुभव है। वहीं तुषार पांचाल कट्टर मोदी विरोधी माने जाते हैं।

तुषार पांचाल के ओएसडी बनने को लेकर जब प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (narottam mishra) से सवाल किया गया तो उन्होंने मोदी के खिलाफ ट्वीट करने वालों पर तंज कसा है। इसके साथ ही नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि वह इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा करेंगे।

इससे पहले ओएसडी नियुक्त होते ही तुषार पांचाल द्वारा अपने टि्वटर हैंडल से इस बात की जानकारी दी गई थी। जहां ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा था कि आखिरकार नियति मुझे, मध्य प्रदेश के सीएम हाउस लेकर गई। इसके बाद से ही मोदी के विरोध में किए उनके ट्वीट सामने आने लगे हैं।