शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में दस्तावेज सत्यापन पर कोरोना की नजर, आयुक्त कियावत ने कही बड़ी बात

कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पिछले साल भी शिक्षकों का सत्यापन कार्य स्थगित कर दिया गया था।

teacher

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में 2 साल के उच्च माध्यमिक (Higher Secondary) और माध्यमिक शिक्षक भर्ती (Secondary teacher recruitment) प्रक्रिया को शुरू किया गया था। हालांकि अब इस पर कोरोना (corona) की नजर लग गई है। दरअसल मध्य प्रदेश में शिक्षक भर्ती के लिए दस्तावेज सत्यापन (Document verification) के कार्य को स्थगित कर दिया गया है।

इस मामले में मध्य प्रदेश शासन के लोक शिक्षण संचनालय कि आयुक्त जयश्री कियावत ने सभी संभागीय संयुक्त संचालक, जिला शिक्षा अधिकारी को पत्र लिखा है। दरअसल अपने लिखे पत्र में लोक शिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत ने कहा कि उच्च माध्यमिक और माध्यमिक शिक्षक भर्ती के दस्तावेज का सत्यापन का कार्य चल रहा था किंतु कोरोना संक्रमण के मामले को देखते हुए इस पर रोक लगाना अनिवार्य है। दरअसल सत्यापन कर रहे अधिकतर अधिकारी कर्मचारी संक्रमित हो गए हैं। प्रदेश के अधिकांश जिलों में कोरोना कर्फ्यू लगाया गया है। जिसके बाद सत्यापन कार्य का होना संभव नहीं है।

Read More: 10 दिन के लिए लॉक हुआ ये जिला, कोरोना पर शिकंजा कसने लगाए गए कर्फ्यू

इतना ही नहीं अपने लिखे पत्र में लोक शिक्षण संचनालय के कमिश्नर जयश्री कियावत ने कहा कि दस्तावेज़ सत्यापन के कार्य को 16 अप्रैल से 5 मई तक के लिए स्थगित किया गया है। वहीं 5 मई के बाद संक्रमण की स्थिति को देखते हुए दस्तावेज सत्यापन की नई तिथि पर विचार किया जाएगा। उसके लिए नीति का ऐलान किया जाएगा।

बता दें कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण से हालत खस्ता है। लगातार बड़ी संख्या में मरीजों की पुष्टि हो रही है प्रदेश के 52 जिलों में से कई जिलों में लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई है। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पिछले साल भी शिक्षकों का सत्यापन कार्य स्थगित कर दिया गया था। वहीं उच्च माध्यमिक शिक्षक और माध्यमिक शिक्षक भर्ती प्रक्रिया के लिए दस्तावेज सत्यापन का कार्य अब लॉकडाउन खोले जाने के बाद ही शुरू की जाएगी।