कोरोना की तेज रफ्तार, 24 घंटे में मिले 12727 पॉजिटिव, 77 लोगों की मौत

इसके अलावा गुना, टीकमगढ़, पन्ना हरदा मंडेला सहित छोटे शहरों में लगातार संक्रमण के मामले देखने को मिल रहे हैं।

dewas

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में लगातार दूसरे दिन 12000 से ज्यादा संक्रमित मामले सामने आए हैं। दरअसल प्रदेश में संक्रमण का रिकॉर्ड (record) लगातार टूट रहा है। बीते 24 घंटे में 12727 नए पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है। वहीं 70 लोग अपनी जान गवा बैठे हैं। कोरोना से संक्रमण दर 24% से ज्यादा पहुंच गया है।

दरअसल कोरोना की की दूसरी लहर भयानक होती जा रही है। मध्य प्रदेश में लगातार दूसरे दिन 12000 से अधिक संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है। वहीं बीते 26 घंटे में संक्रमण दर की रफ्तार 24.7 रिकॉर्ड की गई है। छोटे शहरों में लगातार मौत के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं।

सरकारी रिपोर्ट की मानें तो भोपाल, इंदौर, जबलपुर सहित नीमच, शहडोल, रतलाम, टीकमगढ़ में संक्रमित मरीजों की मौत के आंकड़ों में तेजी से वृद्धि देखी जा रही है। पहले लहर में इंदौर सबसे ज्यादा संक्रमित शहरों में शामिल था लेकिन दूसरी लहर में संक्रमण छोटे जिलों में देखने को मिल रहे हैं। अनूपपुर, रीवा, कटनी में 300 से अधिक संक्रमित मामले सामने आ रहा है। वहीं राजधानी भोपाल सहित इंदौर और ग्वालियर में यह आंकड़ा 1000 से 1800 के बीच पहुंच गया है।

Read More: MP Weather: मप्र में फिर बदलेगा मौसम का मिजाज, इन जिलों में बारिश के आसार

इधर लगातार बड़े संगठन के मामले को देखते हुए और मरीजों की मौतों की संख्या में हो रही वृद्धि को देखते हुए प्रदेश में बेड, ऑक्सीजन और रेमेडीसिविर इंजेक्शन के लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है। अस्पतालों में बेड बढ़ाए जा रहे हैं। इसके साथ ही शिवराज सरकार ने सभी जिला कलेक्टरों को कोविड केयर सेंटर बनाने के लिए फ्री हैंड कर दिया है। नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन के बावजूद सख्ती बढ़ती जा रही है।

बता दें कि बीते दिनों भोपाल में 1694 ने संक्रमित मामले सामने आए थे। वही चार लोगों की मौत हो गई थी। जबकि इंदौर में 24 घंटे में 1753 नए मामले सामने आए हैं और 8 लोगों की मौत की खबर सामने आ रही है। ग्वालियर में संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार वृद्धि देखी जा रही है। 11 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई है। वही 1072 संक्रमित मामले सामने आए हैं। जिसके बाद ग्वालियर में बीते 4 दिनों में एक्टिव केस 4000 से ज्यादा रिकॉर्ड किए गए हैं।

इसके अलावा गुना, टीकमगढ़, पन्ना हरदा मंडेला सहित छोटे शहरों में लगातार संक्रमण के मामले देखने को मिल रहे हैं। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार बैठकें आयोजित कर रहे हैं जबकि प्रदेश की गतिविधियों पर नजर रखी गई है। जबलपुर में रिकवरी डेट घटकर 81.12 रह गया है। एक्टिव 5820 पहुंच गए हैं। कई शहरों में अत्यधिक मात्रा में कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। वहीं टीकाकरण के मामले में बदलाव किया गया है। कंटेनमेंट जोन में आने वाले लोगों को सबसे पहले वैक्सीनेट करने के निर्देश दिए गए हैं।