देवास : 5 साल के बच्चे का सिर कंकाल हुआ बरामद, जंगली जानवर के हमले की आशंका, पुलिस जांच में जुटी

बागली अनुभाग की उदयनगर तहसील के ग्राम में बच्चे का सिर कंकाल मिलने से हड़कंप मच गया, लोगों का कहना है कि बच्चा जंगली जानवर का शिकार हुआ है।

देवास, सोमेश उपाध्याय। देवास (Dewas) जिले के बागली अनुभाग की उदयनगर तहसील के ग्राम में वन्यप्राणी के हमले में पांच वर्षीय बच्चे की मौत हो गई है, यह घटना कल देर रात की है। हमला तब हुआ जब बच्चा खेत पर अपनी दादी के साथ सो रहा था।

यह भी पढ़ें…इंदौर के इस गांव में मंत्री तुलसी सिलावट और कलेक्टर मनीष सिंह का रोका गया रास्ता, ये है वजह !

वन विभाग के एसडीओ अमित सौलंकी ने बताया कि उदयनगर परिक्षेत्र के गुलजारी कामठ में 5 वर्षीय बालक मनीष मानकर को देर रात्रि में वन्यप्राणी उठा कर ले गया। देर रात की घटना होने के कारण जानवर की पहचान नही हो पाई है। पथरीली जगह होने से पगचिह्न भी नहीं बन पाए। हल्के पगचिह्न से प्रारंभिक रूप से वह तेंदुए के लग रहे है, परन्तु जांच होने के बाद ही पूर्ण रूप से कहा जा पाएगा की कारण क्या है। वन विभाग के साथ पुलीस की संयुक्त टीम ने आज सर्चिंग की है। आज इंदौर (Indore) की डॉग स्क्वाड (Dog squad) की टीम द्वारा सर्चिंग करने पर घटना स्थल से तीन किलो मीटर की दूरी पर बच्चे के सिर का कंकाल मिला है। जिसमे केवल बाल ही बचे है, बाकी शरीर अभी तक नही मिल पाया है, वही घटना के बाद पुलिस ने भी मर्ग कायम कर लिया है। एसडीओ सौलंकी के अनुसार रिपोर्ट आने बाद यदि वन्यप्राणी के हमले की पुष्टि हो सकती है तो ही छतिपूर्ति राशि परिजनों को दी जाएगी। हालांकि जानकार इसे तेंदुए का शिकार ही बता रहे है, क्योंकि खेत से लगे जंगली क्षेत्र में तेंदुए की सुगबुगाहट अनेको बार देखने को मिली है। घटना के बाद से ही क्षेत्र में सनसनी बनी हुई है।

टीम लगातार कर रही है सर्चिंग
नरभक्षी प्राणी की तलाशी के लिए इंदौर की डॉग स्क्वाड टीम लगातार जंगलों में सर्चिंग कर रही है। टीआई राजाराम वास्केल व रेंजर दिनेश निगम द्वारा भी अन्य सदस्यों के साथ घटना स्थल के आजू-बाजू लगभग 10-15 से किमी के क्षेत्र में सर्चिंग कर रहे है।

यह भी पढ़ें…मुरैना : पहले ऑक्सीजन की कमी से मौत, फिर स्ट्रेचर नहीं मिला तो ठेले पर ले जाना पड़ा शव