MP के इस विभाग में करोड़ों का गबन, क्राइम ब्रांच ने शुरू की जांच, 94 के खिलाफ FIR दर्ज

मामले में एएसपी का अंदाजा है कि जांच के दौरान गबन की राशि और भी ज्यादा बढ़ सकती है। कार्रवाई जारी है। जल्द ही मामले में खुलासा किया जाएगा।

भोपाल,  डेस्क रिपोर्ट।  मध्यप्रदेश (madhya pardesh) के महिला एवं बाल विकास विभाग (Women and Child Development Department) में करोड़ों के गबन का मामला सामने आया है। दरअसल विभाग (department) के दो अकाउंटेंट (accountant) समेत कई खातेदार के खिलाफ क्राइम ब्रांच ने धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है। विभाग का कहना है कि महिला एवं बाल विकास विभाग में 1.5 करोड़ से अधिक का गबन हुआ है। जिसमें कर्मचारियों के खाते में वेतन का दुगना हिस्सा डाला गया है। इस मामले में अब विभागीय कार्रवाई शुरू की गई है।

दरअसल मामला 2015 से 16 के बीच का है। जब महिला बाल विकास विभाग के दो अकाउंटेंट समेत करीबन 90 से अधिक खाताधारकों के खाते में उनकी सैलरी से दोगुनी राशि डाली गई थी। इतना ही नहीं विभाग से छिपाकर कर्मचारियों ने यह रकम अपने ऊपर खर्च भी कर ली गई है। जिसके बाद अब क्राइम ब्रांच भोपाल (crime branch bhopal) ने मामले का संज्ञान लेते हुए विभागीय कार्रवाई शुरू की है। इस मामले में पहले भी तत्कालीन कमिश्नर ने जांच के आदेश दिए थे। जिसके बाद विभागीय कार्रवाई शुरू की गई थी।

Read More: MP News: IAS को मिली किस बात की सजा, सरकार के साथ-साथ बिरादरी भी खफा

मामले में महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से Account incharge शहजाद खान ने करीबन 3 महीने पहले शिकायत की थी। जिसमें पाया गया था कि विभाग के निचले स्तर के कर्मचारियों के बैंक खाते में उनकी वेतन की दुगनी राशि डाली गई है। जबकि इस मामले में विभाग के किसी वरिष्ठ अधिकारी और कर्मचारी को इसकी सूचना नहीं थी। वहीं इस रकम का उपयोग जिम्मेदारों द्वारा उपयोग किया गया है।

मामले में क्राइम ब्रांच का कहना है कि विभाग ने जब अपने स्तर पर ऑडिट (audit) करवाया तो करीब 1.5 करोड़ की धोखाधड़ी का खुलासा किया गया है। इसके आधार पर क्राइम ब्रांच (crime branch) द्वारा मंगलवार को अकाउंटेंट काशी प्रसाद, सिराज खान समय 94 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है। वहीं मामले में एएसपी का अंदाजा है कि जांच के दौरान गबन की राशि और भी ज्यादा बढ़ सकती है। कार्रवाई जारी है। जल्द ही मामले में खुलासा किया जाएगा।